विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesED files charge sheet against purvi mehta

बड़ा खुलासा: नीरव मोदी की बहन ने फर्जी कंपनियों को दिए 1,200 करोड़ रुपए

पूर्वी मेहता नीरव मोदी की दुबई और हांगकांग में स्थित कंपनियों की निदेशक थी 

ED files charge sheet against purvi mehta

ED files charge sheet against purvi mehta प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी मेहता के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लांडरिंग एक्ट कोर्ट में पूरक चार्जशीट दायर की है। ईडी ने इसमें दावा किया है कि पूर्वी ने कंपनी में सक्रिय सहभागिता निभाते हुए 1,201.18 करोड़ रुपये डायवर्ट किए हैं। 

नई दिल्ली। 14 हजार करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) स्कैम के मुख्य आरोपी नीरव मोदी (Nirav Modi) के मामले में भारत सरकार को बड़ी सफलता मिली है। लंदन पुलिस ने मंगलवार को नीरव मोदी को गिरफ्तार कर लिया। कुछ समय बाद कोर्ट में हुई पेशी के बाद नीरव मोदी की जमानत याचिका भी खारिज हो गई। कोर्ट ने उन्हें 29 मार्च तक के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। लंदन की कोर्ट द्वारा दो दिन पहले जारी अरेस्ट वारंट के क्रम में यह कार्रवाई की गई है। इसी के साथ ही प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पंजाब नेशनल बैंक को करोड़ों रुपये का चूना लगाने वाले हीरा कारोबारी नीरव मोदी की बहन पूर्वी मेहता के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लांडरिंग एक्ट कोर्ट में पूरक चार्जशीट दायर की है। ईडी ने इसमें दावा किया है कि पूर्वी ने कंपनी में सक्रिय सहभागिता निभाते हुए 1,201.18 करोड़ रुपये डायवर्ट किए हैं। 

पूर्वी मेहता दुबई और हांगकांग में स्थित कंपनियों की निदेशक थी 


8 मार्च को दर्ज की गई याचिका में ईडी ने दावा किया कि पूर्वी मेहता दुबई और हांगकांग में स्थित कंपनियों की निदेशक थी जिसे नीरव मोदी के लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के जरिए फंड मिलता था। ईडी की चार्जशीट में लिखा है कि पूर्वी ने धोखाधड़ी के जरिए हुई आय को विदेशी कंपनियों में भेजा। इसपर पूर्वी मेहता का कहना है कि उसे इन वित्तीय लेन-देन के बारे में कोई जानकारी नहीं है। 

नीरव मोदी की फर्जी कंपनियों में निदेशक थी पूर्वी मेहता


ईडी की नीरव मोदी की संपत्तियों को जब्त करने वाली याचिका पर सुनवाई के दौरान दाखिल अपने जवाब में मेहता ने कहा कि उसका इस कथित अपराध से कोई लेना-देना नहीं है। आपको बता दें कि मेहता का नाम सिंगापुर स्थित नोवेलर इन्वेस्टमेंट्स प्राइवेट लिमिटेड और इस्लिंगटन इंटरनेशनल होल्डिंग्स प्राइवेट लिमिटेड में एक लाभकारी मालिक के रूप में भी सूचीबद्ध है। मेहता का नाम ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड में स्थित लिली माउंटेन इनवेस्टमेंट कंपनी में निदेशक के तौर पर दर्ज है। यह नीरव की उन फर्जी कंपनियों में एक है जिसमें मार्च 2013 और मार्च 2014 के बीच 343.02 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए गए थे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन