विज्ञापन
Home » Industry » CompaniesEarn more than 50 thousand rupee after became a pharmacist

12वीं के बाद करें यह कोर्स, पास होते ही मिलेगी 20 से 50 हजार रुपए महीने की नौकरी, सरकारी क्षेत्र में भी है सुनहरा अवसर

दिल्ली, मुंबई, बनारस, पुणे समेत कई स्थानों से कर सकते हैं यह कोर्स

1 of

नई दिल्ली। आज देश में बड़ी संख्या में युवा शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इनमें से बड़ी संख्या में युवा उच्च शिक्षा प्राप्त करने का बाद भी नौकरियों से वंचिंत हैं। कई जानकारों का मानना है कि मार्गदर्शन के अभाव में युवा कम नौकरियों की संभावना वाले कोर्स कर लेते हैं। इससे उन्हें नौकरी पाने में परेशानी होती है। आज हम आपको एक ऐसे ही कोर्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे करने का बाद आपकी नौकरी की समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी। तो आइए जानते हैं इस कोर्स के बारे में...

 

12वीं के बाद ही करें यह कोर्स

आज हमारा देश विश्व की दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाला देश है। आज के खानपान, प्राकृतिक असंतुलन और पर्यावरण प्रदूषण के कारण मरीजों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। इस कारण स्वास्थ्य क्षेत्र में विशेषज्ञों की मांग बढ़ रही है। मरीजों के उपचार में डॉक्टरों के साथ-साथ फार्मासिस्टों का भी अहम योगदान है। यह फार्मासिस्ट गुणवत्तापूर्ण दवाइयों का निर्माण, उनका रिएक्शन और दवाइयों के मरीजों पर प्रभाव की जानकारी देते हैं। इस कारण प्राइवेट सेक्टर से साथ-साथ सरकारी क्षेत्र में भी फार्मासिस्टों की मांग बनी रहती है। 

 

ये होनी चाहिए योग्यता

एक फार्मासिस्ट बनने के लिए 12वीं में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी विज्ञान में 50 प्रतिशन अंक होने चाहिए। इसके बाद फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया से मान्यता प्राप्त संस्थान में बैचलर इन फार्मेसी कोर्स में दाखिला ले सकते हैं। प्रत्येक संस्थान में प्रवेश के लिए अलग-अलग प्रक्रिया है। यह कोर्स चार साल का होता है। बैचलर इन फार्मेसी करने के बाद आप दो साल का मास्टर इन फार्मेसी कोर्स भी कर सकते हैं। कोर्स के दौरान आपको दवा निर्माण के संयंत्र, दवाइयों के मॉलिक्यूलर स्ट्रक्चर और कॉम्बिनेशन, दवा निर्माण की तकनीक और तरीका, दवा परीक्षण, दवा परीक्षण संबंधी कानूनों के बारे में जानकारी दी जाती है।

यहां हैं नौकरी के अवसर


सरकारी और निजी अस्पतालों में हमेशा फार्मासिस्टों की मांग बनी रहती है। सरकार दवाइयों की जांच और क्वालिटी कंट्रोल के लिए औषधि निरीक्षकों की भर्ती करती है। दवा निर्माता कंपनियां केमिस्ट, क्वालिटी कंट्रोल, फार्मासिस्ट आदि पदों पर योग्य युवाओं की नियुक्ति करती हैं। फार्मेसी का कोर्स करने के बाद निजी सेक्टर में आसानी से 15 से 20 हजार रुपए महीने की नौकरी मिल जाती है। यदि आप सरकारी नौकरी पा लेते हैं तो आपको हर महीने 40 से 50 हजार रुपए की सैलरी मिलेगी। इसके अलावा फार्मासिस्ट अपना मेडिकल स्टोर खोलकर भी हर महीने हजारों रुपए कमा सकता है। आपको बता दें कि मेडिकल स्टोर का लाइसेंस केवल फार्मासिस्टों को ही मिलता है। 

यहां से कर सकते हैं कोर्स

 

- गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी दिल्ली
- जामिया मिलिया हमदर्द दिल्ली
- इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस चंडीगढ़
- इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी मुंबई
- गोवा कॉलेज ऑफ फार्मेसी पणजी
- आईआईटी बीएचयू वाराणसी
- मणिपाल कॉलेज ऑफ फार्मास्यूटिकल मेडिकल साइंस मणिपाल
- पुना कॉलेज ऑफ फार्मेसी पुणे

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन