विज्ञापन
Home » Industry » Companiesdelhi government will give Cheap e scooter and e auto in 2019

नए साल पर मिलेंगे सस्ते ई-स्कूटर और ई-आटो

जल्द ही सरकार ई-वीकल पॉलिसी लेकर आ रही है

delhi government will give Cheap e scooter and e auto in 2019
नया साल इस बार लोगों के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है। आने वाले साल में सरकार दिल्ली  में रहने वाले लोगों की सुविधाओं के लिए अलग-अलग कदम उठाने की सोच रही है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट के जरिए सफर करने वाले लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए और पर्यावरण को नुकसान ना पहुंचाने के लिए जल्द ही सरकार ई-वीकल पॉलिसी लेकर आ रही है। 

नई दिल्ली। नया साल इस बार लोगों के लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है। आने वाले साल में सरकार दिल्ली  में रहने वाले लोगों की सुविधाओं के लिए अलग-अलग कदम उठाने की सोच रही है। पब्लिक ट्रांसपोर्ट के जरिए सफर करने वाले लोगों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए और पर्यावरण को नुकसान ना पहुंचाने के लिए जल्द ही सरकार ई-वीकल पॉलिसी लेकर आ रही है। इस पॉलिसी को 2019 में लागू किया जाएगा। इस पॉलिसी के चलते बसों में की सुधार किए जाएंगे। इसी के साथ ही स्मार्ट बस स्टैंड जैसी योजनाएं भी नए साल में  लागू होंगी।

 

ई-वीकल पॉलिसी: ई-वीकल पॉलिसी के तहत यह लक्ष्य रखा गया है कि 2023 तक रजिस्टर्ड होने वाले नए वाहनों में 25 फीसदी ई-वीकल होने चाहिए। सरकार  ने इसके लिए प्रावधान दिया है कि ई- टू वीलर्स, 3-वीलर्स से लेकर कमर्शल ई-वीकल खरीदने पर लोगों को भारी सब्सिडी के साथ-साथ रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फीस माफ की जाए। साल 2019  में सरकार की इलेक्ट्रिक और सीएनजी गाड़ियों को बढ़ावा देने की योजना है। 

 

3000 नई बसें: अगले 5 से 6 महीनों में 25 फीसदी बसों की खेप सड़कों पर उतारी जाएगी। इस पर दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत का कहना है कि एक हजार स्टैंडर्ड फ्लोर बसों के लिए टेंडर हो गया है। जिसके बाद अगले 4 से 5 महीनों में स्टैंडर्ड फ्लोर बसें सड़कों पर दौडेंगी। वहीं दूसरी ओर इलेक्ट्रिक बसों के लिए टेंडर अंतिम चरण में है। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने क्लस्टर बसों के लिए भी टेंडर दिया है।  

 

बसें होंगी सेफ: महिलाओं की सुरक्षा को देखते हुए दिल्ली सरकार ने बसों  में सीसीनटीवी कैमरे लगाने का टैंडर दिया है। इस प्रोजेक्ट की अगले 6 महीने के अंदर खत्म होने की उम्मीद जताई जा रही है। इस प्रोजेक्ट के चलते बसों में तीन पैनिक बटन लगाए जाएंगे। इसके साथ ही सभी बसें जीपीएस सिस्टम से जुड़े होंगे। इसमें लगे सीसीटीवी कैमरे इंटरनेट की सहायता से चलेंगे। पैनिक बटन दबाते ही बस में एस सायरन बजने लगेगा। 

 

स्मार्ट बस स्टैंड: साल 2019 में दिल्ली सरकार  ने 1400 स्मार्ट बस स्टैंड बनाने की भी योजना बनाई है। दिल्ली  में मौजूदा समय में कुल 4627 बस स्टैंड हैं। इसमें 1861 बस स्टैंड को नया लुक दिया जा चुका है। इसके साथ ही स्टेनलैस स्टील के नए स्टैंड बनाए जा चुके हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन