Home » Industry » CompaniesCivil aviation secy says Centre to expedite AI disinvestment

AI के वि‍नि‍वेश की प्रक्रिया में आएगी तेजी, इच्छुक पार्टियों से मांगा जाएगा रुचि पत्र

एअर इंडि‍या के वि‍नि‍वेश को लेकर सरकार की ओर से एक बार फिर प्रतिबद्धता जाहिर की गई है।

Civil aviation secy says Centre to expedite AI disinvestment

हैदराबाद...  एअर इंडि‍या के वि‍नि‍वेश को लेकर सरकार की ओर से एक बार फिर प्रतिबद्धता जाहिर की गई है। सिविल एविएशन सेक्रेटरी आरएन चौबे ने आज कहा कि सरकार एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्‍होंने आगे कहा‍ कि अगले कुछ हफ्तों में इच्छुक पार्टियों से रुचि पत्र (EoIs) मांगा जा सकता है। 


चार दिवसीय एविएशन इवेंट 'विंग्स इंडिया 2018' के उद्घाटन समारोह में सिविल एविएशन सेक्रेटरी आर एन चौबे ने कहा कि पवन हंस में विनिवेश के लिए संशोधित EoI भी उसी समय में मांगे जाने की उम्मीद है।

 

पवन हंस के लिए खरीददार की भी तलाश 

 

उन्‍होंने कहा कि वर्तमान में हमारी मिनिस्ट्री एयरइंडिया और उसकी सब्‍सिडरी के अलावा पवन हंस के लिए खरीददार की तलाश में व्‍यस्‍त है। हम इसे जल्‍द से जल्‍द पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्‍होंने आगे कहा, आने वाले कुछ हफ्तों में इसके लिए रुचि पत्र आने की उम्‍मीद कर सकते हैं। चौबे ने साथ ही कहा कि पवन हंस के लिए भी संशोधित रुचि पत्र जल्‍द आ जाएगा।  

पिछले साल जून में कैबिनेट ने कर्ज में डूबी एयर इंडिया के विनिवेश को मंजूरी दे दी थी। फाइनेंस मिनिस्‍टर अरुण जेटली की अगुवाई में एयर इंडिया के स्‍टेक सेल को लेकर रणनीति बनाने के लिए टीम गठित की गई। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट