बिज़नेस न्यूज़ » Industry » CompaniesPNB फ्रॉड: बैंक के GM रैंक का अफसर गिरफ्तार, गीतांजलि के जब्त हीरे नकली होने का शक

PNB फ्रॉड: बैंक के GM रैंक का अफसर गिरफ्तार, गीतांजलि के जब्त हीरे नकली होने का शक

पीएनबी फ्रॉड केस में शिकंजा कसते हुए सीबीआई के अधिकारियों ने 2 बड़ी गिरफ्तारियां की हैं!

1 of

नई दिल्‍ली. पीएनबी फ्रॉड केस में शिकंजा कसते हुए सीबीआई के अधिकारियों ने 2 बड़ी गिरफ्तारियां की हैं। इसमें पहली गिरफ्तारी जहां नीरव मोदी की कंपनी के चीफ फाइनेंस ऑफिसर (CFO) विपुल अंबानी की हुई। वहीं दूसरी ओर पीएनबी के जीएम रैंक के एक बड़े अधिकारी को भी जांच एजेंसी ने गिरफ्त में लिया है। ये बड़ी गिरफ्तारियां मंगलवार रात हुईं।घोटाला सामने आने के बाद यह अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी है। मामले के दो मुख्य आरोपी नीरव मोदी तथा मेहुल चोकसी देश छोड़ कर जा चुके हैं।

 

सीबीआई ने मंगलवार रात पंजाब नेशनल बैंक के जनरल मैनेजर रैंक के अफसर राजेश जिंदल को अरेस्ट किया गया है। जिंदल 2009 से 11 के दौरान मुंबई की उसी ब्रैडी हाउस ब्रांच में थे, जहां 11,394 करोड़ का घोटाला हुआ था। बताया जाता है कि नीरव मोदी की कंपनियों को LOU जारी करने का सिलसिला उन्‍हीं के दासैर में शुरू हुआ। जिदंल मौजूदा दौर में नर्इ दिल्‍ली स्थित पीएमबी के हेड क्‍वॉटर में जीएम क्रेडिट के तौर पर तैनात हैं।

 

इस घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी और गीतांजलि जेम्स के मालिक मेहुल चौकसी के ठिकानों पर एन्फोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी )और सीबीआई की तलाश जारी है। ईडी को शक है कि देशभर से गीतांजलि जेम्स के शोरूम से जो गहने जब्त हुए, उनमें जड़े हीरों की क्वालिटी खराब होने के साथ वे ऑर्टीफिशियल यानी लैब में बने हो सकते हैं। 

 

अभिषेक मनु सिंघवी की पत्‍नी को I-T का नोटिस 

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने 11,400 करोड़ रुपए के पीएनबी फ्रॉड में कांग्रेस लीडर अभिषेक मनु सिंघवी की पत्नी अनीता सिंघवी को नोटिस भेजा है। उन पर पीएनबी फ्रॉड के मुख्य आरोपी नीरव मोदी को गलत तरीके से फायदा पहुंचाने का आरोप है। यह नोटिस इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के जोधपुर जोन ने भेजा है। इसमें अनीता सिंघवी और नीरव मोदी के बीच आर्थिक लेनेदन के आरोपों पर जवाब देने को कहा है। सूत्रों के अनुसार, अनीता सिंघवी से नीरव मोदी से लगभग 6 करोड़ रुपए के जेवरात खरीदने और इसमें से 4.8 करोड़ रुपए का कैश भुगतान करने के मामले में जवाब मांगा गया है। नोटिस इनकम टैक्स कानून की धारा 131 के तहत भेजा गया है।

 

PNB फ्रॉड: नीरव मोदी की कंपनी के CFO विपुल अंबानी अरेस्ट, अनीता सिंघवी को I-T नोटिस

 

जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे विपुल 

विपुल अंबानी के साथ नीरव मोदी की कंपनी से हुड़े 4 अन्‍य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। विपुल के अलावा नीरव-मेहुल की कंपनियों के चार और अफसर गिरफ्तार किए गए हैं। इनमें तीन फर्मों की अॉथराइज्ड सिग्नेटरी कविता मणिकर, फायरस्टार का सीनियर एग्जीक्यूटिव अर्जुन पाटिल, नक्षत्र ग्रुप का सीएफओ कपिल खंडेलवाल और गीतांजलि का मैनेजर नितेन शाही शामिल है।

 

अधिकारियों के मुताबिक, अंबानी जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे। उनसे रविवार को पूछताछ की गई थी। सीबीआई अब तक कुल 12 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, जिनमें से पांच पीएनबी और छह नीरव-मेहुल की कंपनियों से जुड़े हैं। इससे पहले सीबीआई ने मंगलवार दिनभर पीएनबी के एक एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर सहित 10 और नीरव-मेहुल की कंपनियों के 8 अफसरों से पूछताछ की थी। सीबीआई ने नीरव के अलीबाग स्थित फार्म हाउस पर भी छापा मारा।

 

PNB फ्रॉड: 5 दिन में डूबे 11 हजार करोड़ रु, अकेले सरकार को 6 हजार करोड़ की चपत

 

विपुल से चल रही थी पूछताछ

सोमवार को सीबीआई ने विपुल अंबानी और रवि गुप्ता के अलावा कई पीएनबी अधिकारियों से पूछताछ की थी। सीबीआई ने धीरूभाई अंबानी के छोटे भाई नटुभाई अंबानी के बेटे विपुल अंबानी से इस संबंध में मुंबई में लगभग आठ घंटे तक पूछताछ की। वह नीरव मोदी की कंपनी फायरस्टार के मुख्य वित्त अधिकारी हैं। 

 

मेहुल और गीतांजलि ग्रुप के 20 ठिकानों पर छापे

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने टैक्स चोरी पकड़ने के लिए मंगलवार को मेहुल चौकसी और उसके गीतांजलि ग्रुप पर देशभर में 20 जगह छापे मारे। मुंबई, पुणे, सूरत, हैदराबाद, बेंगलुरू सहित अन्य शहरों में 13 कंपनियों पर छापे मारे गए। इसी बीच, नीरव मोदी के शोरूम से छह करोड़ रुपए की ज्वैलरी खरीदने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी की पत्नी अनीता सिंघवी को नोटिस जारी किया है। सीबीआई ने मंगलवार को पीएनबी के 10 अधिकारियों से पूछताछ की। इनमें एक एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर लेवल का अफसर भी शामिल है। वहीं, नीरव मोदी और गीतांजलि ग्रुप के 18 अन्य कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई। सीबीआई टीम ने नीरव के अलीबाग स्थित फार्म हाउस पर भी छापा मारा।

 
कैसे सामने आया PNB फ्रॉड?

पंजाब नेशनल बैंक ने बुधवार को स्‍टॉक एक्‍सचेंज बीएसई को बताया कि उसने 1.8 अरब डॉलर (करीब 11,356 करोड़ रुपए) का संदिग्‍ध ट्रांजैक्‍शन पकड़ा है। इस घोटाले की शुरुआत 2011 से हुई। 7 साल में हजारों करोड़ की रकम फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई। बैंक के अनुसार, ऐसा लगता है कि इन ट्रांजैक्‍शन के आधार पर विदेश में कुछ बैंकों ने उन्हें (चुनिंदा अकाउंट होल्‍डर्स को) कर्ज दिया है। ये अकाउंट्स कितने थे, कितने लोगों को फायदा हुआ? इस बारे में अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। इस पूरे फ्रॉड को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग (एलओयू) के जरिए अंजाम दिया गया। यह एक तरह की गारंटी होती है, जिसके आधार पर दूसरे बैंक अकाउंटहोल्डर को पैसा मुहैया करा देते हैं। अब यदि अकाउंटहोल्डर डिफॉल्ट कर जाता है तो एलओयू मुहैया कराने वाले बैंक की यह जिम्मेदारी होती है कि वह संबंधित बैंक को बकाये का भुगतान करे।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट