बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Companiesबाइंग एजेंट्स एसोसिएशन की 15 सदस्‍यीय गवर्निंग बॉडी का एलान, पहली AGM में हुआ गठन

बाइंग एजेंट्स एसोसिएशन की 15 सदस्‍यीय गवर्निंग बॉडी का एलान, पहली AGM में हुआ गठन

बाइंग एजेंट्स एसोसिएशन (BAA) ने अपनी 15 सदस्‍यों वाली गवर्निंग बॉडी की घोषणा की है।

1 of

नई दिल्‍ली. एक्‍सपोर्ट इंडस्‍ट्री को एकजुट करने और इसके मैनेजमेंट में बदलाव लाने के लिए गठित की गई बाइंग एजेंट्स एसोसिएशन (BAA) ने अपनी 15 सदस्‍यों वाली गवर्निंग बॉडी की घोषणा की है। एसोसिएशन का पहला डेमोक्रेटिक इलेक्‍शन 8-9 मार्च को आयोजित हुआ और 10 मार्च को इसकी पहली सालाना आम बैठक में इस गवर्निंग बॉडी का गठन किया गया। यह जानकारी एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी की ओर से जारी बयान में दी गई। 

 

 

गवर्निंग बॉडी का चेयरपर्सन क्रिस्‍टीन ई राय को बनाया गया है। बयान के मुताबिक, ADK इंडिया LLC के लोकेश पराशर, क्रिएटिव कॉन्‍सेप्‍ट्स के सुमित छाबड़ा और स्‍पेशियलिटी मर्चेंडाइजिंग के विशाल ढींगरा को वाइस चेयरमैन नियुक्‍त किया गया है। ग‍वर्निंग बॉडी के जनरल सेक्रेटरी पद के लिए इंडोसोर्स इंटरनेशनल की आंचल कंसल और ज्वाइंट सेक्रेटरी पद के लिए यूए कंसल्‍टेंट्स के अजय अबरॉल को चुना गया है। फाइनेंशियल मैटर्स का चार्ज हर्मेस इंडिया इन्‍फ्राकंसल्‍ट के विशाल नारायण सिन्‍हा को सौंपा गया है। 

 

अन्‍य सदस्‍यों में ये लोग हैं शामिल 

BAA गवर्निंग बॉडी के अन्‍य सदस्‍यों में समथिंग एल्‍स की म‍ंदिरा मलिक, ट्राईबर्ग के नीति मोहन, आरएमएस एसोसिएट्स के मनोज राना, मेड इन इंडिया सोर्सिंग के माइकल विनोद, द सन कॉरपोरेशन के पुष्‍कर चित्रवंशी और एमलाइन के दीपक जोशी शामिल हैं। इनके अलावा IMEL के राकेश कुमार और हैंडीक्राफ्ट्स एंड कारपेट सेक्‍टर स्किल काउंसिल के ओम प्रकाश प्रह्लादका इस गवर्निंग बॉडी के इंस्‍टीट्यूशनल मेंबर हैं। 

 

क्‍या है BAA? 

BAA को एक्‍सपोर्ट इंडस्‍ट्री की जरूरतों को पूरा करने के लिए 14 जुलाई 2016 को गठित किया गया था। इसके पहले चेयरमैन राकेश कुमार थे। इसके गठन के पीछे वजह थी कि इंडस्‍ट्री को एक ऐसे प्‍लेटफॉर्म की जरूरत थी, जो न केवल बायर्स और सप्‍लायर्स की समस्‍याओं को हल करे बल्कि इंडस्‍ट्री के वर्किंग स्‍टैंडर्ड में भी सुधार लाए। BAA का उद्देश्‍य भारत में एक्‍सपोर्ट इंडस्‍ट्री की ग्रोथ को अपने प्रयासों से राष्‍ट्रीय व अंतरराष्‍ट्रीय तौर पर सक्रिय रूप से सहयोग प्रदान करना और अंतरराष्‍ट्रीय खरीदारों के लिए पॉजिटिव वर्किंग इनवायरमेंट का निर्माण करना है।  

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट