सख्ती /भारत में रजिस्टर्ड 6 लाख 80 हजार कंपनियां बंद, रिटर्न न भरने के चलते रजिस्ट्रेशन रद्द

  • कंपनियों के बंद होने के मामले में दिल्ली और महाराष्ट्र सबसे आगे

Moneybhaskar.com

Jul 30,2019 01:00:00 PM IST

नई दिल्ली. भारत में पिछले कुछ सालों में बड़े पैमाने पर कंपनियां बंद हुई हैं। इन बंद होने वाली ज्यादातर कंपनियों में शेल कंपनियां शामिल है। भारत में रजिस्टर्ड 6 लाख 80 हजार से ज्यादा कंपनियां बंद हो गई हैं, यह आंकड़ा मई 2019 तक का है। बंद होने वाली कंपनियां कुल रजिस्टर्ड कंपनियों का 36 प्रतिशत हैं। सरकार के डाटा के मुताबिक देश में करीब 1.9 मिलियन कंपनियां रजिस्टर्ड हैं। मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर (MCA) ने संसद को इसकी जानकारी दी।

कंपनियों के खिलाफ क्यों हुई कार्रवाई

दरअसल जिन कंपनियों की ओर से दो साल का फाइनेंशियल स्टेटमेंट और एनुअल रिटर्न नहीं दाखिल किया जाता है, उन्हें बंद कंपनी मान लिया जाता है। सरकार ऐसी कंपनियों को चिन्हित करके उन्हें कंपनी एक्ट 2013 के सेक्शन 248 (1) के अंतर्गत आने वाले नियमों के तहत रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया जाता है। साल 2017-18 में इसमें 20 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई थी।

कंपनियों के बंद होने के मामले में दिल्ली और महाराष्ट्र सबसे आगे

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की ओर से संसद को दी जानकारी के मुताबिक देश में रजिस्टर्ड कंपनियों का बंद होने के मामले में दिल्ली और महाराष्ट्र सबसे आगे हैं। दिल्ली में जहां 142425 कंपनियां बंद हुई, जबकि महाराष्ट्र में 125937 कंपनियां बंद हो गई हैं। दिल्ली, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में देश की आधे से ज्यादा बंद होने वाली कंपनियां शामिल हैं। एमसीए ने साल 2017-18 में करीब 2,20,000 कंपनियों को रजिस्ट्रेशन लिस्ट से हटा दिया था, जबकि साल 2018-19 में 110,000 कंपनियों को इस लिस्ट से हटा दिया गया था।

राज्य बंद कंपनियां
महाराष्ट्र 142425
दिल्ली 125937
तमिलनाडु 64013
पश्चिम बंगाल 67941
अन्य 283001


ऐसे बंद हुई कंपनियां

साल चालू कंपनी बंद कंपनी
मार्च 2015 1,022,011 268142
मार्च 2016 1,088,780 285845
मार्च 2017 1,169,303 301778
मार्च 2018 1,167,298 540847
मार्च 2019 1,156,374 670018
मई 2019 1,167,064 683317
X
COMMENT

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.