Home » Industry » CompaniesKnow where can you deposit 500 and 1000 old bank notes till 31 march 2017

30 दिसंबर के बाद भी इन जगहों पर जमा होंगे 500-1000 के पुराने नोट, जानिए प्रॉसेस

यदि 30 दिसंबर के बाद भी किसी के पास 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बच जाएं तो वह क्‍या करे? क्‍या वे नोट बर्बाद हो जाएंगे और महज कागज के टूकड़े माने जाएंगे या फिर कोई और ऑप्शन होगा।

1 of
 
नई दिल्‍ली. 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बंद किए जाने के बाद से इसे जमा कराने के लिए बैंकों और पोस्‍ट ऑफिसेस के बाहर लंबी-लंबी लाइनें  देखी जा रही हैं। सरकार ने पुराने नोटों को जमा कराने के लिए 30 दिसंबर 2016 तक का समय दिया है। सरकार ने 9‍ दिसंबर से नोट बैन होने के बाद शुरू के कई दिनों तक 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट पेट्रोल पंपों, रेल टिकट, यूटिलिटी बिल के भुगतान समेत कई जगहों पर इस्‍तेमाल की छूट दी थी। बाद में 1000 रुपए के नोट के इस्‍तेमाल को पूरी तरह बंद कर दिया गया। वहीं, 500 के पुराने नोट 15 दिसंबर की आधी रात तक कुछ चुनिंदा जगहों पर चल सकेंगे। इसके बाद इन्‍हें सिर्फ बैंकों और पोस्‍ट ऑफिसेस में जमा ही कराया जा सकता है। 
 
अब असल सवाल यह है कि यदि 30 दिसंबर के बाद भी किसी के पास 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बच जाएं तो वह क्‍या करे?  क्‍या वे नोट बर्बाद हो जाएंगे और महज कागज के टूकड़े माने जाएंगे या फिर कोई और ऑप्शन होगा। मसलन, यदि कोई नवंबर, दिसंबर के दौरान विदेश में रहा हो और जनवरी में वापस लौटने पर उसे घर में पुराने नोट मिले तो वह क्‍या कर सकता है? या बैंकों की लंबी-लंबी लाइन के चलते आप बार-बार बैंक जाकर भी पैसे जमा नहीं करा पाए हों। ऐसी कई वजहें हैं जिनके चलते यह मुमकिन है कि लोगों के पास 30 दिसंबर के बाद भी बैन किए गए पुराने नोट रह जाए।
 
 
 
अगली स्‍लाइड में जानिए 30 दिसंबर के बाद पुराने नोट का क्‍या कर सकेंगे
 
 
सरकार ने साफ कर दिया है कि वह पुराने नोटों को जमा कराने की समय सीमा में कोई बदलाव नहीं करेगी। इसका मतलब है कि 30 दिसंबर के बाद पुराने नोट आपके किसी काम के नहीं रह जाएंगे। न तो यह बैंक में जमा होंगे और न ही इन्‍हें पोस्‍ट ऑफिसेस की ब्रांचेज में ही जमा कराया जा सकेगा। यानी,सरकार ने नोट जमा कराने के लिए सिर्फ 50 दिन का समय दिया है।
 
अगली स्‍लाइड में जानिए 30 दिसंबर के बाद पुराने नोट का क्‍या कर सकेंगे?
 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर को 500 और 1000 रुपए के नोटों का लीगल टेंडर रद्द करने का एलान किया। पीएम मोदी ने यह एलान करते हुए कहा, ‘‘जो लोग इस साल 30 दिसंबर तक 1000 ओर 500 रुपए के पुराने नोट जमा नहीं करा पाते हैं, वह 31 मार्च 2017 तक आरबीआई के निर्धारित ऑफिसेस में एक डिक्‍लेरेशन फॉर्म (घोषणा पत्र) भरकर आईडी प्रूफ और उचित वजह के साथ अपनी रकम जमा करा सकेंगे।’’
 
अगली स्‍लाइड में जानिए RBI के कितने ऑफिस हैं देशभर में  
 
 
रिजर्व बैंक के अहमदाबाद, बेंगलुरु, भोपाल, भुवनेश्‍वर, चंडीगढ़, चेन्‍नर्इ, दिल्‍ली, गुवाहाटी, हैदराबाद,जयपुर, जम्‍मू, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई, नागपुर, पटना और तिरुवनंतपुरम में रीजनल ऑफिसेस हैं। इसके अलावा रिजर्व बैंक के 9 सब-ऑफिसेस अगरतला, देहरादून, गंगटोक, पणजी, रायपुर,रांची, शिलांग, शिमला और श्रीनगर में है।
 
 
अगली स्‍लाइड में जानिए नोटबंदी के बाद अबतक कितने रुपए बैंकों में हुए जमा
 
आरबीआई के अनुसार, नोटबंदी के बाद 10 दिसंबर तक बैंकों में 12.4 लाख करोड़ रुपए जमा किए जा चुके हैं। आरबीआई ने कहा है कि बैंकों को ब्लैकमनी और नकली नोटों का खेल खेलने वाले लोगों से सावधान रहना चाहिए।
 
अगली स्‍लाइड में जानिए नोटबंदी के बाद अबतक कितने छपे और जारी हुए नए नोट
 
रिजर्व बैंक के अनुसार 10 नवंबर से 10 दिसंबर तक बैंकों ओर से 4.61 लाख करोड़ रुपए के नए नोट जारी किए जा चुके हैं। नोट बंदी के बाद अब तक देश में 2000 करोड़ नए नोट छापे जा चुके हैं। इसके बावजूद देश में लोगों को कैश आसानी से उपलब्‍ध नहीं हो रहा है। आरबीआई को उम्‍मीद है कि अगले कुछ दिनों में पर्याप्‍त मात्रा में नए नोट सर्कुलेशन में आ जाएंगे। इससे देश में कैश की किल्‍लत खत्‍म हो जाएगी। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss