• Home
  • top selling cars sale drop in feb; maruti and hyundai hit by note ban

टॉप सेलिंग कारों की सेल्‍स में गि‍रावट, मारुति‍-ह्युंडई को सबसे ज्‍यादा नुकसान

MoneyBhaskar

Mar 08,2017 12:05:00 AM IST
नई दि‍ल्‍ली। ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों की सेल भले ही फरवरी में पॉजि‍टि‍व रही हो लेकि‍न टॉप मॉडल्‍स की सेल्‍स पर अब भी नोटबंदी का असर दि‍ख रहा है। माह दर माह के आंकड़ों को देखें तो मारुति‍ की सबसे ज्‍यादा बि‍कने वाली कारों की सेल्‍स में गि‍रावट आई है। वहीं, ह्युंडई के टॉप मॉडल्‍स की सेल्‍स में भी कमी दर्ज की गई है।
टॉप सेलिंग कारों को नुकसान
सबसे ज्‍यादा डि‍मांड में रहने वाली कारों को भी भारी नुकसान झेलना पड़ा है। इसमें सबसे ऊपर मारुति‍ की ऑल्‍टो का नाम ही आता है। मारुति‍ सुजुकी इंडि‍या ने जनवरी में 22,998 ऑल्‍टो यूनि‍ट्स को बेचा था लेकि‍न फरवरी 2017 में यह आंकड़ा 19,524 यूनि‍ट्स पर आ गया। इसके अलावा, मारुति‍ स्‍वि‍फ्ट डीजायर के 18,088 यूनि‍ट्स बेचे जबकि‍ फरवरी माह में यह आंकड़ा 16,613 यूनि‍ट्स रह गया। इसी तरह, वैगनआर, मारुति‍ स्‍वि‍फ्ट और सेलेरि‍ओ की सेल में भी मासि‍क आधार पर गि‍रावट दर्ज की गई है।
देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी ह्युंडई मोटर इंडि‍या की टॉप सेलिंग कार ग्रांड आई10 की सेल जनवरी 2017 में 13,010 यूनि‍ट्स रही जबकि‍ फरवरी में यह आंकड़ा 12,862 यूनि‍ट्स रहा। इसके अलावा, एलि‍ट आई20 की सेल 11,460 यूनि‍ट्स से गि‍रकर 10,414 यूनि‍ट्स हो गई है।
कार जनवरी 2017 फरवरी 2017
ऑल्‍टो 22,998 19,524
स्वि‍फ्ट डीजयर 18,088 16,613
स्‍वि‍फ्ट 14,545 12,328
वैगनआर 14,930 13,555
सेलेरि‍ओ 10,879 8,315
ह्युंडई ग्रांड आई10 13,010 12,862
एलि‍ट आई20 11,460 10,414
अभी रि‍वकरी में लगेगा वक्‍त
ऑटो एक्‍सपर्ट पी. बालेंद्रन ने moneybhaskar.com को बताया कि‍ नोटबंदी की वजह से सेल्‍स में दि‍खने वाली सुस्‍ती फि‍लहाल जारी रहेगी। ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री में रि‍कवरी आने में अभी कुछ और वक्‍त लगेगा। यही वजह है कि‍ कंपनि‍यों की ओर अभी भी डि‍स्‍काउंट दि‍या जा रहा है। इसके अलावा, पुरानी पॉपुलर कारों की डि‍मांड धीरे-धीरे कम हो रही है क्‍योंकि‍ नई कारों ने उनकी जगह लेनी शुरू कर दी है। नोटबंदी का असर कारों की सेल्‍स पर अगले महीने तक दि‍खाई देता रहेगा।
नोटबंदी से पहले के लेवल पर पहुंची ब्रीजा और क्रेटा
देश की दो टॉप स्‍पोर्ट्स यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स (एसयूवी) वि‍टारा ब्रीजा और ह्युंडई क्रेटा नोटबंदी से पहले यानी अक्‍टूबर के लेवल के करीब पहुंच गई हैं। इन कारों की सेल्‍स में भी रि‍कवरी नजर नहीं आई है। अक्‍टूबर में मारुति‍ सजुकी ने 10 हजार ब्रीजा बेची थीं जबकि फरवरी 2017 में यह आंकड़ा 10,046 पर पहुंचा है। इसके अलावा, ह्युंडई ने पि‍छले साल अक्‍टूबर में क्रेटा की 8,670 यूनि‍ट्स थीं जो फरवरी में 9 हजार यूनि‍ट्स पर है।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.