Home »Industry »Auto» India Beat Us, Germany And Japan; Become Third Fastest Auto Market In The World

भारत बना दुनि‍या का तीसरा सबसे तेजी से बढ़ने वाला कार मार्केट, US, जर्मनी को छोड़ा पीछे

भारत बना दुनि‍या का तीसरा सबसे तेजी से बढ़ने वाला कार मार्केट, US, जर्मनी को छोड़ा पीछे
 
नई दि‍ल्‍ली। भारतीय ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री ने ग्रोथ के मामले में अमेरि‍का, जर्मनी और जापान जैसे बड़े मार्केट को पीछे छोड़ दि‍या है। इतना ही नहीं, भारत दुनि‍या की तीसरी सबसे तेजी से बढ़ने वाली ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री भी बन गई है। एक्‍सपर्ट्स का मानना है कि‍ कई वि‍देशी कंपनि‍यों ने भारत को अपना मैन्‍युफैक्‍चरिंग हब बना लि‍या है। इसके अलावा, कंपनि‍यों को भारत में खुद की ग्रोथ भी नजर आने लगी है।
 
इन देशों से आगे नि‍कला भारत
 
इंटरनेशनल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ मोटर व्‍हीकल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (OICA) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबि‍क, कैलेंडर ईयर 2016 में भारत के पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स वॉल्‍यूम ग्रोथ 6.99 फीसदी रही। वहीं, इसी दौरान अमेरि‍का की सेल्‍स वॉल्‍यूम ग्रोथ -9.24 फीसदी रही, जर्मनी में 4.54 फीसदी, जापान में -1.4 फीसदी की सेल्‍स ग्रोथ रही। साल 2015 में भारत टॉप 5 कार मार्केट में शामि‍ल हुआ था।  
 
देश2016 सेल वॉल्‍यूमसालाना ग्रोथ
चीन2,43,7690215.28 फीसदी
यूएस68,72,729-9.24 फीसदी
जापान41,46,459-1.6 फीसदी
जर्मनी33,51,6074.54 फीसदी
यूके26,92,7862.25 फीसदी
फ्रांस20,15,1775.11 फीसदी
इटली18,24,96815.83 फीसदी
भारत29,66,6376.99 फीसदी
(स्रोत : OICA की ओर से जारी आंकड़े)
 
वि‍देशी कंपनि‍यों का बढ़ता रुझान
 
ऑटोमोबाइल एक्‍सपर्ट पी. बालेंद्रन ने moneybhaskar.com को बताया कि‍ भारत में वि‍देशी कंपनि‍यों का रुझान तेजी से बढ़ा है। कई कंपनि‍यां भारत को एक्‍सपोर्ट और मैन्‍युफैक्‍चरिंग हब के तौर पर भी यूज कर रही हैं। इसके अलावा, भारत की इकोनॉमी बढ़ने के साथ-साथ ऑटोमोबाइल इंडस्‍ट्री का भी वि‍स्‍तार हुआ है। ऐसे में कंपनि‍यों को दूसरे देशों की तुलना में यहां ज्‍यादा ग्रोथ संभावनाएं दि‍ख रही हैं।
 
इंडि‍यन ऑटो इंडस्‍ट्री की 6 साल में सबसे ज्‍यादा ग्रोथ
 
सोसाइटी ऑटो इंडि‍यन ऑटोमोबाइल मैन्‍युफैक्‍चरर्स (सि‍आम) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबि‍क, 31 मार्च 2017 को खत्‍म हुए फाइनेंशि‍यल ईयर के दौरान भारत में पैसेंजर व्‍हीकल की सेल्‍स पहली बार 30 लाख के पार हो गई, यह ग्रोथ छह साल में सबसे तेज है। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण स्‍पोर्ट्स यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स (एसयूवी) के लि‍ए बढ़ती डि‍मांड है।  भारत में 2016-17 में कुल 30,43,201 पैसेंजर व्‍हीकल्‍स बेचे जो कि‍ पि‍छले साल की तुलना में 9.09 फीसदी ज्‍यादा है।
 
अकेले यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल में 30 फीसदी की ग्रोथ
 
सि‍आम के आंकड़ों के मुताबि‍क, सालाना आधार पर 2016-17 में यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स की सेल्‍स ग्रोथ 30 फीसदी रही है। कंपनि‍यों ने इस दौरान 7,61,997 एसयूवी बेची हैं। सि‍आम ने अनुमान लगाया है कि‍ इस साल सेल्‍स ग्रोथ 7 से 9 फीसदी रह सकती है।  

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY