विज्ञापन
Home » Industry » Autodelhi gets first e charging station

auto / दिल्ली में शुरू हुआ पहला इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन, मार्च तक 50 चार्जिंग स्टेशन लगाने का टारगेट

क्रेडिट/डेबिट कार्ड, ई वॉलेट, यूपीआई और भीम ऐप के माध्यम से किया जा सकता है पेमेंट

delhi gets first e charging station
  • कार वालों को 1.60 रुपये/किलोमीटर से 1.80 रुपये/किलोमीटर खर्च आएगा।
  • इस वित्तीय वर्ष के अंत तक करीब 50 और जगहों पर चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे।

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार ई-वाहनों को प्रोत्साहित करने के लिए की तरह के काम कर रही है। इस दिशा में दिल्ली के ऊर्जा मंत्री श्री सत्येंद्र जैन ने मंगलवार को साउथ एक्सटेंशन पार्ट-2 स्थित बीएसईएस के ग्रिड में पहले स्मार्ट पब्लिक इलेक्ट्रिक वाहन चार्जिंग स्टेशन का उद्घाटन किया। एक पैनल में दो गाड़ियां चार्ज की जा सकती हैं। एक बार चार्जिंग के लिए लोगों को 160-200 रुपए तक देने होंगे। कार वालों को 1.60 रुपये/किलोमीटर से 1.80 रुपये/किलोमीटर खर्च आएगा।

लोग ऑनलाइन देख सकेंगे अपना नजदीकी चार्जिंग स्टेशन


यह अपनी तरह का अनोखा कांन्सेप्ट है, जो एक मोबाइल ऐप के माध्यम से काम करेगा। इलेक्ट्रीफाइ नाम के मोबाइल ऐप पर वाहन मालिक ऑनलाइन देख सकते हैं कि उनका नजदीकी चार्जिग स्टेशन कौन सा है और किस चार्जिंग स्टेशन पर अभी चार्जिंग पोर्ट खाली है या चार्जिंग के लिए कितनी वेटिंग है। यही नहीं, वेटिंग से बचने के लिए वे वहां पर जाने से पहले ही अपने लिए एक चार्जिग स्लॉट भी बुक कर सकते हैं और उसके लिए ऑनलाइन भुगतान भी कर सकते हैं। यह व्यवस्था इस लिए की गई है ताकि इलेक्ट्रिक वाहनों के मालिकों का समय बचे और चार्जिंग स्टेशन पर जाने के बाद उन्हें कोई दिक्कत न हो। ऑनलाइन अग्रिम भुगतान क्रेडिट/डेबिट कार्ड, ई वॉलेट, यूपीआई और भीम ऐप के माध्यम से किया जा सकता है।

 दिल्ली में करीब 2500 इलेक्ट्रिक कारें है


बीएसईएस के सीईओ अमल सिन्हा के अनुसार, दिल्ली में करीब 2500 इलेक्ट्रिक कारें है। उन्हें चार्ज करने के लिए ही कंपनी ने साउथ एक्स पार्ट-2 में चार्जिंग के दो पैनल लगाए हैं। एक पैनल में दो गाड़ियां एक साथ चार्ज की जा सकती हैं। इस वित्तीय वर्ष के अंत तक करीब 50 और जगहों पर चार्जिंग स्टेशन बनाए जाएंगे। आने वाले कुछ सालों में करीब 150 चार्जिंग स्टेशन बनाने का प्लान है। आने वाले सालों में दिल्ली में इलेक्ट्रिक कारों की संख्या बढ़ेगी। ऐसे में चार्जिंग स्टेशन भी बनाने होंगे। इसे देखते हुए कंपनी ने उन स्थानों पर चार्जिंग स्टेशन बनाने का काम शुरू किया है, जहां सबसे अधिक इलेक्ट्रिक कारें हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन