• Home
  • after the driver less car, Now in driver less truck, Sweden starts testing

नई तकनीक /कार के बाद अब ड्राइवरलेस ट्रक, स्वीडन में टेस्टिंग शुरू

money bhaskar

May 16,2019 07:42:21 PM IST

नई दिल्ली. ड्राइवरलेस ट्रेन और कार के बाद अब ट्रक के लिए भी इस टेक्नोलॉजी का प्रयोग शुरू हो गया है। स्केंडिनेवियाई देश स्वीडन की सड़कों पर पहली बार बिना ड्राइवर के एक इलेक्ट्रिक ट्रक की टेस्टिंग चल रही है। प्रयोग सफल रहा तो इसकी कमर्शियल लांचिंग होगी।


स्टार्टअप कंपनी की है तकनीक


स्वीडिश स्टार्ट-अप ईनराइड कंपनी ने इस तकनीक को विकसित किया है। उसे स्वीडन के एक औद्योगिक क्षेत्र के भीतर मिक्स ट्रांसपोर्ट में टेस्टिंग की अनुमति दी गई है। औद्योगिक क्षेत्र में एक गोदाम और एक टर्मिनल के बीच की सार्वजनिक सड़क इसके लिए परमिट दिया गया है। ईनराइड ने बताया कि यहां यातायात की गति आम तौर पर कम होती है। इससे टेस्टिंग में आसानी है। इस कैब-लेस ट्रक को टी-पॉड नाम दिया गया है। बुधवार को सार्वजनिक सड़क पर इसे शुरू किया गया। इसका परमिट 31 दिसंबर 2020 तक वैध है।
Einride और प्रमुख लॉजिस्टिक फर्म DB Schenker ने पिछले साल नवंबर में स्वीडन के जोंकोपिंग में "टी-पॉड" की स्थापना की थी। कंपनी के मुताबिक यह दुनिया में अपनी तरह का पहला व्यावसायिक इंस्टॉलेशन था। Einride ने दावा किया कि "T-pod" स्वीडन में माल ढुलाई से कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जन को 2030 तक 60 प्रतिशत तक कम कर सकता है।

यह भी पढ़ें : नई सरकार जून में जारी करेगी 5G के लाइसेंस, अगले साल से लोगों को मिलेगी सुविधा


ड्राइवर लेस कार पर टेक्नोलॉजी कंपनियां कर रही हैं काम


गूगल सबसे पहले ड्राइवर लेस कार की लांचिंग कर चुका है। भारत में भी इंफोसिस, ओला, टाटा समेत कई कंपनियां इस दिशा में काम कर रही हैं। टेक्नोलॉजी के सफल होने से सड़कों पर होने वाली दुर्घटनाओं व ट्रैफिक जाम से निजात मिलने की संभावना है।

यह भी पढ़ें : 24 घंटे सातों दिन कर सकेंगे पैसे का ऑनलाइन ट्रांसफर, आरबीआई ला रहा है नया ट्रांजेक्शन नियम


5G तकनीक का होता है इस्तेमाल

कंपनी के मुताबिक एक ऑपरेटर द्वारा ट्रक की देखरेख की जाती है। यदि आवश्यक हो तो तब ही ऑपरेटर नियंत्रण करता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्रक 85 किलोमीटर प्रति घंटे की गति तक पहुंच सकता है, लेकिन परीक्षण के दौरान केवल 5 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने की अनुमति है। इसमें 3 डी सेंसर से लैस व 360 डिग्री घूमने वाले कैमरे व रडार लगे हैं। ट्रक NVIDIA द्वारा निर्मित एक ऑटोमैटिक ड्राइविंग प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है। पूरा सिस्टम 5 जी नेटवर्क के माध्यम से कनेक्ट रहता है।

यह भी पढ़ें : घर का कंप्लीशन सर्टिफिकेट एक अप्रैल से पहले का है तो आपको बकाया राशि पर 12% जीएसटी देना होगा

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.