Home » Industry » AutoPetrol Diesel prices : Reliance industry will open 5000 outlets

पेट्रोल प्राइस में कटौती से नहीं बदलेगा RIL का प्लान, खोलते रहेंगे पेट्रोल पम्प

देश भर में 5000 पेट्रोल पंप खोलेगी रिलांयस इंडस्ट्रीज

Petrol Diesel prices : Reliance industry will open 5000 outlets
 
नई दिल्ली. सरकार के सरकारी तेल कंपनियों को पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी करने के निर्देश का असर रिलायंस इंडस्ट्रीज (RIL) की विस्तार योजना पर पड़ता नहीं दिख रहा है। RIL
ने स्पष्ट किया है कि इसका उनकी कंपनी पर कोई असर नहीं पड़ेगा और वे अपना रिटेल फ्यूल एक्सपेंशन प्लान को आगे बढ़ाते हुए पेट्रोल पंप खोलने का सिलसिला जारी रखेंगे। 

 
5000 पंप दोबारा खोलेगी RIL 
सितंबर 2014 में डीजल की कीमतों पर डिरेग्युलेशन खत्म करने के सरकार के फैसले के बाद रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड RIL ने घोषणा की थी कि वे देश भर में 5000 पंप खोलेंगे। हालांकि RIL अब तक केवल 512 पंप ही खोल पाई है, जबकि उसके मुकाबले नायरा एनर्जी (जिसे पहले एस्सार ऑयल के नाम से जाना जाता था) ने अब तक 3500 पंप खोल दिए हैं। नायरका एनर्जी, RIL की प्रमुख प्रतिद्वंदी कंपनी है। 
 
2011 में बंद कर दिया था बिजनेस 
रिलायंस ने 2011 में ग्लोबल क्रूड प्राइस में तेजी के कारण अपना रिटेल बिजनेस बंद कर दिया था। 
 
एक्सपेंशन प्लान पर असर नहीं 
पत्रकारों से बात करते हुए RIL के ज्वाइंट ग्रुप फाइनेंशियल अफसर वी. श्रीकांत ने कहा कि हमें नहीं लगता कि सरकार द्वारा तेल कीमतों को कम करने के निर्देश का हमारे बिजनेस एक्सपेंशन प्लान पर कोई असर पड़ना चाहिए। हमें अपने बिजनेस स्ट्रैटजी में भी बदलाव की जरूरत महसूस नहीं होती। 
 
रिटेल प्राइस कम करेगी RIL 
हालांकि उन्होंने माना कि कंप्टीशन के चलते कंपनी अपने रिटेल प्राइस को कम करना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि तेल की बढ़ती कीमतों पर काबू पाने के लिए पिछले दिनों 1.5 रुपया प्रति लीटर एक्साइज ड्यूटी कम करने की घोषणा की थी। साथ ही, तेल कंपनियों से कहा था कि वे भी पेट्रोल-डीजल पर 1 रुपए प्रति लीटर कम करें। कई भाजपा शासित राज्य सरकारों ने भी अपने राज्य में 2.50 रुपए प्रति लीटर कम करने की घोषणा की है।
 
केवल 5 फीसदी खपत 
श्रीकांत ने कहा कि RIL अपने ऑयल रिटेल बिजनेस पर काफी कम निर्भर है। RIL का रिफाइनरी ऑउटपुट लगभग 60 मिलियन टन है, जिसमें केवल 5 फीसदी ही डोमेस्टिक मार्केट में खपत होता है, इसलिए कंपनी के ऑयल बिजनेस पर बहुत थोड़ा असर पड़ेगा। 
 
कंपनी का अपना रिटेल प्लान 
जब उनसे पूछा गया कि RIL अपने रिटेल एक्सपेंशन प्लान में स्लो स्पीड पर चल रही है तो उन्होंने इससे इंकार करते हुए कहा कि यह अनुमान उनके प्रतिद्वंदी के प्लान को देखते हुए लगाया जा रहा है, जबकि RIL का अपना रिटेलिंग प्लान है, जिसके हिसाब से कंपनी आगे बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि RIL ने ब्रिटिश ऑयल कंपनी बीपी से फ्यूल रिटेलिंग फ्रंट के लिए एग्रीमेंट साइन किया था, लेकिन अभी इसे इंफोर्स नहीं किया जा रहा है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट