Home » Industry » AutoAirless tyre in india

टायर में हवा भरवाने की नहीं होगी जरूरत, आ रहा है बिना हवा वाला टायर

10 हजार किमी तक नहीं होगी मेंटीनेंस की जरूरत

1 of

नई दिल्ली. अगर आप साइकिल या फिर बाइक के पंचर होने से परेशान हैं, तो जल्द ही इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है, क्योंकि मार्केट में ट्यूबलेस टायर के बाद अब एयरलेस टायर आ रहा है। जिसमें हवा भरवाने की जरूरत नहीं होगी। ताईपे इंटरनेशनल साइकिल शो में एयरलेस टायर से साइकिल और ई-बाइक चलाकर दिखाया गया, जो मार्केट में अब एक नया ट्रेंड स्थापित कर रहा है। वैश्विक स्तर पर Nexo, AirFom और Tannus एयरलेस टायर के सप्लायर हैं।

 

2019 में आएंगे एयरलेस टायर 

Tannus ने ताईपे में फोम से तैयार किए गए टायर के सेटअप को दिखाया। जिसका निर्माण पिछले एक साल से एक बड़ी टायर कंपनी के साथ मिलकर किया जा रहा था। कंपनी के मुताबकि वो 2019 में इस टायर को मार्केट में उतारेंगे, जो कि 29 इंच और 27.5 इंच MTB साइज के होंगे। एक अन्य टायर निर्माता कंपनी निदरलैंड के SCHwalbe एयरलेस टायर बना रहे हैं। उसके दावे के मुताबिक इसे 10 हजार किमीं. बिनी किसी मेंटीनेंस के यूज किया जा सकेगा। इसे दौरान हवा भरने की जरूरत नहीं होगी। 

 

आगे पढ़ें- कैसे काम करेगा एयरलेस टायर

कैसे काम करेगा एयरलेस टायर

दरअलस सॉलिड एयरलेस टॉयर अभी भी मार्केट में मौजूद हैं। इन्हें बच्चों की साइकिल में इस्तेमाल किया जाता है। हालांकि बड़े वाहनों में इस तरह के टायर नहीं इस्तेमाल नहीं किए जा सकते हैं, क्योंकि इससे टॉयर का वेट ज्यादा हो जाता है। साथ ही लोड बढ़ने पर टायर के फटने का खतरा होता है। ऐसे में टायर को हल्का बनाने की तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके लिए टायर के खाली स्पेस में हवा की जगह फोम का इस्तेमाल किया जा रहा है। 

 

आगे पढ़ें

 

बढ़ सकता है एयरलेस टायर का इस्तेमाल

अभी इन टायर का इस्तेमाल केवल ई-बाइक और साइकिल में किया जा रहा है। लेकिन जल्द ही एयरलेस टायर का इस्तेमाल भारी कॉमर्शियल व्हीकल में भी किया जा सकेगा। हालांकि अभी यह एक शुरुआती प्रयोग है, जिसमें वक्त लग सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट