Home » Industry » Autoin india Weaker section state is in top buying vehicle list

कमाई में फिसड्‌डी लेकिन गाड़ी खरीदने में सबसे आगे हैं ये राज्य, देखें पूरी लिस्ट

बिहार और असम जैसे राज्य वाहन खरीदारी में सबसे आगे

1 of

 

नई दिल्ली. देश के पूर्वी छोर पर स्थित असम और बिहार जैसे राज्य कमाई के मामले में भले ही सबसे निचले पायदान पर हैं, लेकिन यात्री वाहनों (कार, वैन और यूटिलिटी वाहन) की सेल्स में ग्रोथ के मामले में ये महाराष्ट्र और गुजरात जैसे राज्यों से आगे निकल गए हैं। सियाम (SIAM) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष यानी 2018-19 की पहली तिमाही के दौरान 30 फीसदी से ज्यादा सेल्स ग्रोथ दर्ज करने वाले आठ राज्यों में से 5 राज्य (असम, बिहार, सिक्किम, नगालैंड और मिजोरम) पूर्वी रीजन से रहे। इससे पहले वित्त वर्ष 2017-18 में पूर्वी रीजन की ग्रोथ 17 फीसदी रही थी, वहीं वेस्टर्न रीजन की ग्रोथ महज 6 फीसदी, नॉर्थ की 12 फीसदी और साउथ की ग्रोथ 3 फीसदी रही थी।  

 

किस राज्य की कितनी इनकम

अगर पर कैपिटा इनकम की बात करें, तो बिहार सबसे निचले पायदान पर आता है। इस लिस्ट में बिहार से ऊपर असम ओडिशा, मणिपुर जैसे राज्य हैं। जबकि महाराष्ट्र और गुजरात जैसे राज्य पर कैपिटा इनकम के मामले में देश के टॉप टेन राज्यों की सूची में आते हैं।

 
राज्य पर कैपिटा इनकम (रुपए में) राज्य पर कैपिटा इनकम (रुपए में) 
दिल्ली    9113  बिहार 1363
गोवा  7657  उत्तर प्रदेश 1568  
चंडीगढ़ 7209  मणिपुर   1726  
सिक्किम  6749 असम  1915    
पुड्डुचेरी  5804  झारखंड 2084    
हरियाणा 5695 मध्य प्रदेश  2129  
महाराष्ट्र 5095 ओडिशा   2330
तमिलनाडु 4663 छत्तीसगढ़  2399
उत्तराखंड 4663 जम्मू कश्मीर 2437    
गुजरात  4589 राजस्थान 2796

 

आगे पढ़ें- किस क्षेत्र में कितनी रही खरीददारी

किस क्षेत्र में कितनी रही खरीददारी

आंकड़ों के मुताबिक वित्त वर्ष 2018 की अप्रैल-जून तिमाही में देश के चार अहम हिस्सों पूर्वी, पश्चिमी, उत्तर और दक्षिण के राज्यों में गाड़ियों की खरीददारी कुछ इस तरह रही-

क्र. क्षेत्र गाड़ी खरीद में वृद्धि (% में)
1. पूर्वी क्षेत्र 27%  
2. पश्चिमी क्षेत्र 18%  
3 उत्तरी क्षेत्र 20%
4. दक्षिणी क्षेत्र 19%

आगे पढ़ें- उत्तरी क्षेत्र में हुई कितने वाहनों की बिक्री

उत्तरी क्षेत्र में हुई कितने वाहनों की बिक्री

वाहन उद्योग के संगठन सियाम के आंकड़ों के मुताबिक पूर्वी क्षेत्र में वित्त वर्ष 2017 की तुलना में पिछले साल 58,200 वाहनों की ज्यादा बिक्री हुई। पश्चिम की बात करें तो 55,500 कारों और दक्षिण में 24,600 कारों की अतिरिक्त बिक्री हुई। केवल उत्तरी क्षेत्र ही ऐसा रहा जहां एक लाख से ज्यादा अतिरिक्त वाहन बेचे गए।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट