Home » Industry » AutoTop five bike in India with ABS System

दुर्घटना से बचने के लिए जरूरी है ये सेफ्टी फीचर, बाइक खरीदते वक्त रखें ध्यान

डिस्क ब्रेक से आला दर्जे की है ये तकनीक

1 of
नई दिल्ली. देश में टू-व्हीलर से होने वाली दुर्घटनाएं एक बड़ी वजह बनकर उभरी है। इससे बचने के लिए टू-व्हीलर निर्माता कंपनियां डिक्स ब्रेक सिस्टम लेकर आई, जो तेज रफ्तार को कंट्रोल करने के लिए काफी थी। लेकिन इस दौरान गाड़ी के पलटने का खतरा बरकरार रहता है। इस दिक्कत को दूर करने के लिए टू-व्हीलर कंपनियां  बाइक में नई एबीएस तकनीक का प्रयोग कर रही हैं। यह डिस्क ब्रेक से आला दर्जे की तकनीक है। इसमें डिस्क ब्रेक लगाने पर बाइक के  पहिए को जाम होने की दिक्कत को दूर किया जा सकता है। इससे अचानक लगाए जाने वाले ब्रेक की वजह से गाड़ी के पलटने का खतरा दूर हो गया। 

 
जानें क्या है एबीएस और क्यों है जरूरी 
एबीएस मतलब एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम होता है। मतलब ये ब्रेक को लॉक होने से रोकता है। इस तकनीक में बाइक के पहिए में सेंसर लगा होता है, जो अचानक ब्रेक लगाने पर पहिए पर लगने वाले प्रेशर को कम करता है। इसके लिए बाइक में एक कंट्रोल यूनिट होता है। इसका सीधा मतलब है कि सेंसर बाइक की स्पीड के मुताबिक ब्रेक को कंट्रोल करता है और जरुरत के हिसाब से ब्रेक लगाता है। इससे गाड़ी का पहिया जाम नहीं होता है और गाड़ी फिसलने से बच जाती है।
 
आगे पढ़ें- एबीएस सिस्टम पर आएगा कितना खर्च 
एबीएस पर कितना आएगा खर्च 
आम बाइक की तुलना में एबीएस तकनीक वाली बाइक महंगी है। इसका इसके इंस्टॉलेशन मे 7 से 10 हजार रुपए अतिरिक्त खर्च करना पड़ता है। लेकिन नई बाइक में इसके लिए 5 से 7 हजार रुपए अतिरिक्त चार्ज किए जाते हैं। वहीं अगर बाइक के दोनों पहियों में एबीएस सिस्टम लगा है, तो उसका प्राइस ज्यादा होगा। 
 
आगे पढ़े- एक लाख से कम कीमत वाली एबीएस बाइक 
1 लाख रुपए की कीमत में एबीएस सिस्टम वाली 5 बाइक इस प्रकार हैं
 
बाइक  प्राइस (एक्स शोरुम प्राइस दिल्ली)
Honda CB Hornet 160R 90,734 रुपए 
TVS Apache RTR 180 93,497 रुपए 
Suzuki Intruder 99,995 रुपए 
TVS Apache RTR 200 4V 1.09 लाख रुपए
Suzuki Gixxer ABS  87,250   रुपए
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट