विज्ञापन
Home » Industry » AutoNGT Slapped Rs 500 Cr Fine On Volkswagen For Using Cheat Device In Diesel Vehicles

अपनी डीजल कारों में cheat device लगाकर पर्यावरण को नुकसान पहुंचा रही थी यह कंपनी, अब भरना होगा 500 करोड़ का जुर्माना

कंपनी को जुर्माना भरने के लिए मिला है दो महीने का समय

NGT Slapped Rs 500 Cr Fine On Volkswagen For Using Cheat Device In Diesel Vehicles

नई दिल्ली.

जर्मनी की कार निर्माता कंपनी Volkswagen पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने 500 करोड़ का जुर्माना लगाया है। कंपनी पर आरोप है कि वह भारत में बिकने वाली डीजल कारों में 'cheat device' लगा रही थी, जिससे पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा था। कंपनी को यह जुर्माना दो महीने के अंदर सेंट्रल पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड को सौंपना होगा। गुरुवार को एनजीटी ने Volkswagen वेहीकल्स पर बैन लगाने की याचिका पर सुनवाई करने के दौरान कंपनी पर यह जुर्माना ठोका।

 

क्या है चीट डिवाइस

Cheat या defeat डिवाइस डीजल कारों के इंजन में लगाया जाने वाला एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो कार की पर्फोमेंस में बदलाव करके इमीशन टेस्ट के नतीजों में छेड़छाड़ करता है, ताकि कार उत्सर्जन के मानकों पर खरी उतर सके। Volkswagen ने भी माना था कि उसने अमेरिका, यूरोप और अन्य बड़े बाजरों में बेची गईं 1.1 करोड़ डीजल कारों के इमीशन रिजल्ट में छेड़छाड़ करने के लिए चीट डिवाइस का इस्तेमाल किया।

 

कंपनी ने वापस बुलाए थे 3.23 वेहीकल

2015 में Automotive Research Association of India (ARAI) की ओर से Volkswagen के कुछ माॅडल्स पर टेस्ट कराया था। इसमें पता चला कि कंपनी की कारों का उत्सर्जन BS-IV मानकों से 1.1 से लेकर 2.6 फीसदी ज्यादा है। जब Volkswagen India ने दिसंबर 2015 में अपने 3,23,700 वेहीकल्स को वापस बुला लिया था। हालांकि कंपनी ने कहा था कि उसने भारत में कारों को अपनी मर्जी से वापस बुलाया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन