विज्ञापन
Home » Industry » Autoandhra pradesh govt gift car for poor

ये सरकार मात्र 55 हजार रुपए में दे रही है 5.50 लाख की कार, बेरोजगार ब्राह्मण उठा सकते हैं फायदा

इस कार का प्रयोग कैब के रुप में करके अपनी बेरोजगारी से छुटकारा पा सकेंगे।

1 of

नई दिल्ली. आंध्र प्रदेश की तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) ने बेरोजगार गरीब ब्राह्मणों को Swift dzire कार देने का ऐलान किया है। इस कार की एक्स शोरुम कीमत 5.50 लाख रुपए हैं। पहले चरण में आंध्र प्रदेश ब्राह्मण कल्याण निगम की ओर 50 कारों को मंजूरी दी गई है। मुख्यमंत्री नायडू अमरावती में बेरोजगार ब्राह्मण युवाओं के लिए 30 स्विफ्ट डिजायर कारों को हरी झंडी दिखाएंगे। यह कार राज्य सरकार की ओर से स्व-रोजगार कार्यक्रम के तहत बेरोजगार ब्राह्मण युवाओं को दी जाएंगी। 

 

कैसे मिलेगी कार 
अगर किसी युवा की नौकरी नहीं है तो ही वह मारुति की सेडान कार डिजायर को पाने के योग्य होगा। इसके लिए आंध्र प्रदेश ब्राह्मण कल्याण निगम की ओर से सब्सिडी दी जाएगी, जो कि अधिकतम 2 लाख रुपए होगी। इसके लिए लाभार्थी को कार की लागत का 10 प्रतिशत रकम देनी होगी। बाकि राशि आंध्र प्रदेश ब्राह्मण सहकारी क्रेडिट सोसाइटी द्वारा मासिक किस्तों में देय ऋण के रूप में प्रदान की जाएगी। साफ शब्दों में कहे तो 10 प्रतिशत का भुगतान करने पर शेष राशि का ग्राहक को आंध्र प्रदेश ब्राह्मण सहकारी क्रेडिट सोसाइटी की ओर से ऋण दिया जाएगा। जिसकी किश्तों का भुगतान सरकार को हर महीने करना होगा। यानी महज 50 हजार रुपए देकर 5.50 लाख की कार ली जा सकेगी। 

 

 

 

क्या है सरकार का मकसद 
सरकार की मानें तो वो गरीब ब्राह्मणों को कार इसलिए दे रही है, जिससे वो टैक्सी चलाकर अपना और अपने परिवार का गुजारा कर सकें। सरकार मुताबिक इस कार का प्रयोग युवा कैब के रुप में कर सकते हैं, और अपनी बेरोजगारी से छुटकारा पा सकेंगे। बता दें कि सरकार की ओर से डिजायर टूर का दी जाएगी, इसे केवल "परमिट वाहन" के रूप में बेचा जाता है जिसे केवल टैक्सी या टैक्सी के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। वे केवल पीले नंबर प्लेट के साथ पंजीकृत हो सकते हैं। बेरोजगार गरीब ब्राह्मण परिवारों को दी गई कार के उपयोग पर कोई विशेष पाबंदी नहीं है। युवकों को दी गई कार के उपयोग पर कोई विशेष पाबंदी नहीं है। 

 

 

स्मार्टफोन देने का भी किया गया है वादा 

चंद्रबाबू नायडू की ओर से राज्य के 1.4 करोड़ लोगों को स्मार्टफोन देने का भी ऐलान किया गया है। नाइडू के मुताबिक जीवन को आसान बनाने के लिए राज्य को 14 मिलियन स्मार्टफोन चाहिए। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन