बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Agri-Biz2 महीने में 125% तक बढ़े सब्जियों के दाम, जरूरत से ज्‍यादा बारिश ने बिगाड़ा खेल

2 महीने में 125% तक बढ़े सब्जियों के दाम, जरूरत से ज्‍यादा बारिश ने बिगाड़ा खेल

गोभी, गाजर, प्‍याज, टमाटर जैसी आम सब्जियां खरीदना भी लोगों की जेब पर भारी पड़ रहा है।

1 of

नई दिल्‍ली. सर्दियां शुरू होते ही सब्जियों के दाम आसमान पर जा पहुंचे हैं। गोभी, गाजर, प्‍याज, टमाटर जैसी आम सब्जियां खरीदना भी लोगों की जेब पर भारी पड़ रहा है। पिछले दो महीने के अंदर सब्जियों की कीमतों में काफी इजाफा हुआ है। सितबंर के मुकाबले प्‍याज के थोक दाम में 125 फीसदी तो टमाटर के दाम में 120 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। दिल्‍ली की मंडियों में थोक में जहां टमाटर 44 रुपए किलो तक में मिल रहा है वहीं रिटेल में इसकी कीमत 70-80 रुपए किलो तक जा पहुंची है। अन्‍य सब्जियों का भी यही हाल है। अगर पिछले साल नवंबर से तुलना करें तो इस साल नवंबर में सब्जियां 214 फीसदी तक महंगी हो चुकी हैं। 

 

सितंबर-अक्‍टूबर में दिल्‍ली में कितनी थीं कीमतें

सब्जियां

नवंबर 2017 में थोक कीमत (रु. में) (प्रति किलो)

अक्‍टूबर 2017 में थोक कीमत (रु. में) (प्रति किलो)

सितंबर 2017 में थोक कीमत (रु. में) (प्रति किलो)

टमाटर

44

50

20

प्‍याज

45

30

20

मटर

44

70

100

गोभी

20

20

30

गाजर

30

40

26

शिमला मिर्च

30

50

50

ग्‍वार की फली

26

33

27

 

सोर्स: एगमार्क डॉट एनआईसी डॉट इन 

 

पिछले साल नोटबंदी से जमीन पर आ गए थे दाम 
पिछले साल नवंबर में प्रधानमंत्री द्वारा अचानक से नोटबंदी की घोषणा किए जाने के बाद सब्जियों के दाम में बड़ी गिरावट आई थी। आलम यह था कि कहीं-कहीं तो किसानों को कई टन सब्‍जी फेंकनी पड़ी थी। नवंबर 2016 में दिल्‍ली में गोभी जहां केवल 7 रुपए किलो थोक में मिल रही थी, वहीं आज यह 20 रुपए किलो पर जा पहुंची है। टमाटर के दाम में तो 214 फीसदी तक का इजाफा हुआ है। पिछली साल नवंबर में जहां टमाटर की थोक कीमत 14 रुपए किलो थी, वहीं आज 44 रुपए किलो तक जा पहुंचा है। वहीं गोभी के दाम में 185 फीसदी तक की वृद्धि हुई है। 

 

सब्जियां

नवंबर 2016 में थोक कीमतें (रु. में) (प्रति किलो)

टमाटर

14

प्‍याज

15

मटर

70

गोभी

7

गाजर

14

शिमला मिर्च

20

ग्‍वार की फली

30

सोर्स: एगमार्क डॉट एनआईसी डॉट इन 

 

क्‍या है सब्जियां महंगी होने की वजह

सब्जियों की कीमतों में आए उछाल को लेकर दिल्‍ली के राजिंदर शर्मा ने moneybhaskar.com को बताया कि हर साल कीमतें इतनी ज्‍यादा नहीं होती हैं लेकिन इस बार ज्‍यादा बारिश की वजह से सब्जियां इतनी महंगी हैं। दो-ढाई महीने की एक्‍स्‍ट्रा बारिश ने सब्जियों का गणित बिगाड़ा, जिसके चलते सप्‍लाई पर असर पड़ा। 


15 दिन बाद मिल जाएगी राहत 
शर्मा ने बताया कि अब धीरे-धीरे सप्‍लाई बेहतर हो रही है। इसलिए कीमतें कम होना शुरू हो चुका है। 15 दिनों बाद सब्जियों की कीमतों में राहत दिखने लगेगी और रिटेल में भी दाम कम हो जाएंगे। 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट