विज्ञापन
Home » Industry » Agri-BizIndian farmer to be benefited due to US sanctions on oil imports from Iran

कमाई / ईरान पर अमेरिकी प्रतिबंध भारतीय किसानों के लिए बनेगा कमाई का बड़ा जरिया, खेती से हो जाएंगे मालामाल

अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने के मामले में भारत सहित आठ देशों की छूट को खत्म कर दिया है।

Indian farmer to be benefited due to US sanctions on oil imports from Iran
  • अमेरिका क्रूड ऑयल के उत्पादन के लिए ग्वार गम का प्रयोग करता है।
  • भारत ग्वार गम का सबसे बड़ा उत्पादक

नई दिल्ली. अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने के मामले में भारत सहित आठ देशों की छूट को खत्म कर दिया है। इससे भारत, चीन जैसे देशों में क्रूड ऑयल की सप्लाई प्रभावित होगी। अमेरिका इसमें अहम भूमिका निभा सकता है। दरअलल अमेरिका अब क्रूड इंपोर्टर से क्रू़ड एक्सपोर्टर बन चुका है और अब वह हर दिन करीब 1.22 करोड़ बैरल का रिकॉर्ड क्रूड ऑयल का उत्पादन करता है। 

 

भारत ग्वार गम का सबसे बड़ा उत्पादक

अमेरिका क्रूड ऑयल के उत्पादन के लिए ग्वार गम का प्रयोग करता है। ऐसे में अमेरिका ग्वार गम की खरीद बढ़ाएगा और इसकी मांग बढ़ेगी जिसके कारण ग्वार गम की कीमतें बढ़ रही हैं। दिलचस्प बात यह है कि दुनिया में सबसे अधिक करीब 80 फीसदी ग्वार गम भारत और पाकिस्तान में होता है। इसमें भी सबसे अधिक भारत के राजस्थान में होता है। ऐसे में ग्वार गम की खेती मुनाफे वाली हो सकती है। 

 

ग्वार गम की मांग फूड प्रोसेसिंग में भी

क्रूड ऑयल एक्सप्लोरेशन के अलावा ग्वार गम की मांग फूड प्रोसेसिंग में भी है। अमेरिका के अलावा यूरोप से भी इसकी मांग अधिक है। इसका इस्तेमाल पशुओं को खिलाने के लिए भी किया जाता है और कैडबरी जैसे प्रॉडक्ट में भी किया जाता है. विस्फोटक पदार्थों में भी इसका प्रयोग होता है। ग्वार गम की मांग की तुलना में इसकी आपूर्ति बहुत कम है जिसके कारण इसकी कीमतें बढ़ रही हैं. कमोडिटी एक्सचेंज एनसीडीईएक्स के मुताबिक फरवरी से लेकर अब तक ग्वार गम की कीमतें करीब 500 रुपये प्रति 100 किग्रा तक बढ़ चुकी हैं.


कमजोर मानसून की बढ़ा सकता है मुसीबत 

भारतीय मौसम विभाग ने अलनीनो की किसी भी संभावना से इनकार किया है लेकिन स्काईमेट और अंतरराष्ट्रीय स्तर के एक मौसम विभाग के मुताबिक इस बार मानसून सामान्य से कम रहेगा और अलनीनो का असर देखने को मिल सकता है. इसकी वजह से ग्वार गम का उत्पादन प्रभावित होने की संभावना है. इस कारण भी इसकी कीमतें उछाल मार रही हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन