बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Agri-Biz48,000 रुपए नकद देगी मोदी सरकार, करें यौगि‍क-वैदि‍क खेती

48,000 रुपए नकद देगी मोदी सरकार, करें यौगि‍क-वैदि‍क खेती

सरकार ने ऐसे कि‍सानों को नकद प्रोत्‍साहन देने की योजना बनाई है जो यौगि‍क खेती, गौ माता खेती या ऋृषि‍ कृषि‍ करेंगे।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। सरकार ने ऐसे कि‍सानों को नकद प्रोत्‍साहन देने की योजना बनाई है जो यौगि‍क खेती, गौ माता खेती या ऋृषि‍ कृषि‍ करेंगे। जैवि‍क खेती को प्रोत्‍साहन देने वाली केंद्र सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना परंपरागत कृषि वि‍कास योजना (PKVY) के लि‍ए नई गाइडलाइंस जारी की गई हैं। इसके तहत कि‍सानों को 48700 रुपए की आर्थि‍क सहायता दी जाएगी। सरकार ने इस योजना के तहत वर्ष 2018-19 के लि‍ए 360 करोड़ रुपए का प्रावधान कि‍या है। इस योजना के तहत आने वाली खेतीबाड़ी से जुड़ी कुछ तकनीकों को दि‍ल्‍ली में आयोजि‍त हुए कृषि उन्‍नति मेले में भी दर्शाया गया था।  


नई गाइडलाइंस के मुताबि‍क, खेती के परंपरागत तरीकों जैसे यौगिक खेती, गौर माता खेती, वैदि‍क खेती, वैष्‍णव खेती, अहिंसा खेती, अवधूत शि‍वानंद खेती, सजीव खेती, परंपरागत खेती, सेंद्रीय खेती, जीवन खेती, शि‍व योग कृषि, टिक्‍का खेती, बायो खेती, और त्रृषि कृषि को अपनाएंगे उन्‍हें यह वि‍त्‍तीय सहायता दी जाएगी। जो कि‍सान जैवि‍क खेती कर रहे हैं या जीरो बजट प्राकृति‍क खेती कर रहे हैं, ये सहायता उनसे इतर है। आगे पढें 

इस तरह से होगा आवंटन 


वैसे तो इन गाइडलाइंस में खेती करने के इन तौर तरीकों की वि‍स्‍तृत व्‍याख्‍या नहीं की गई है मगर ये माना जाता है कि यौगि‍क खेती में कि‍सान अपने खेत में योगा करते हैं और उससे ब्रह्मांड की ऊर्जा उनके खेतों में समाती है। इसी तरह से गौ माता खेती वो होती है जि‍समें खेतों में गाय के गोबर और गौ मूत्र का इस्‍तेमाल कि‍या जाता है। 
इस योजना के तहत इस तरह की खेती को अपनाने वाले कि‍सानों को सरकार प्रति हेक्‍टेयर 48700 रुपए तीन साल के वक्‍त में देगी। रकम सीधे कि‍सानों के खाते में भेजी जाएगी। पहले साल 17,000 रुपए, दूसरे साल 15,600 रुपए और तीसरे साल 16100 रुपए। इसके तहत फंड राज्‍य सरकार को दि‍या जाएगा और राज्‍य सरकार पॉलि‍सी गाइडलाइंस को परि‍भाषि‍त कर सकती हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट