Home » Industry » Agri-Bizकिसानों ने विधानभवन के सामने फेंका आलू - Farmers in UP throw potato outside the state assembly building

किसानों ने यूपी विधानभवन के सामने फेंके आलू, लागत से भी कम मिल रहे हैं दाम

उत्तर प्रदेश विधानसभा के सामने शनि‍वार तड़के आलू फेंककर किसानों ने अपना विरोध दर्ज कराया।

1 of

लखनऊ.  उत्तर प्रदेश विधानसभा के सामने शनि‍वार तड़के आलू फेंककर किसानों ने अपना विरोध दर्ज कराया। कड़ाके की ठंड के बावजूद किसानों ने तड़के करीब चार बजे विधानभवन के सामने, हजरतगंज, राजभवन के सामने और कुछ अन्य मार्गों पर आलू फेंककर सरकार की नीतियों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया। किसानों का कहना है कि आलू का लागत मूल्य भी नहीं निकल पा रहा है, ऐसे में किसानों के सामने बड़ी समस्या उठ खड़ी हुई है।


आलू फेंकने के अलावा कोई और रास्‍ता नहीं 
किसान नेता राजेन्द्र सिंह का कहना है कि कोल्ड स्टोरेज का किराया 220 रुपये प्रति क्‍विंटल है और बाजार में किसान को 150 से 200 रुपये प्रति क्‍विंटल आलू बेचना पड़ रहा है। ऐसे में किसान के सामने आलू फेंकने के अलावा कोई और रास्ता नहीं है।
सिंह ने कहा कि सरकार ने समर्थन मूल्य तो घोषित कर दिया, लेकिन सरकार आलू कहां खरीद रही है यह किसी को पता नहीं है। उनका कहना था कि अधिकारी केवल आंकड़ों  का खेल-खेल रहे हैं । सरकार भी अधिकारियों की सुन रही है। किसानों की समस्या पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
सरकार कि‍सानों के बारे में नहीं सोच रही
उधर, प्रमुख विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम का कहना है कि किसानों ने लखनऊ के प्रमुख मार्गों पर आलू फेंककर अपना विरोध दर्ज कराया है। इस विरोध को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिये। किसानों का दर्द सरकार समझ नहीं रही है। किसान बेहाल हैं और सरकार उनके बारे में सोच नहीं रही है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट