Home » Industry » Agri-BizFarmers are not getting minimum support price

एमएसपी से 20-32% कम पर चना और मसूर बेचने को मजबूर कि‍सान, बंपर प्रोडक्‍शन बना वजह

इस समय बाजार में चने और मसूर की अच्‍छी आवक हो रही है।

1 of

 

नई दि‍ल्‍ली। मोदी सरकार कि‍सानों को उनकी फसल का लागत से 50 फीसदी अधि‍क मूल्‍य दि‍लाने की बात तो कर रही है मगर फि‍लहाल तो उन्‍हें एमएसपी भी नहीं मि‍ल पा रहा। इस समय बाजार में चने और मसूर की अच्‍छी आवक हो रही है। चने का रि‍कॉर्डतोड़ उत्‍पादन हुआ है मगर कि‍सान एमएसपी से 32% तक कम रेट में बेचने को मजबूर हैं। 
 
 मध्‍यप्रदेश, महाराष्‍ट्र और कर्नाटक में चने की खेती बड़े पैमाने पर होती है। मगर मंडि‍यों में ज्‍यादा आवक की वजह से कि‍सानों को एमएसपी भी नहीं मि‍ल पा रही है। आंकड़ों के मुताबि‍क, यहां की मंडि‍यों में चने का थोक भाव एमएसपी से 15 से 20% कम है। मध्‍यप्रदेश और यूपी की मंडि‍यों में मसूर के थोक रेट एमएसपी से 22 से 32% नीचे चले गए हैं।  
 
सरकार ने कि‍ए थे कई उपाय 
इस बार चने का रि‍कॉर्ड उत्‍पादन देखते हुए सरकार ने मार्च में चने पर इंपोर्ट ड्यूटी को बढ़ाकर 60 फीसदी करने के साथ एक्‍सपोर्ट पर प्रोत्‍साहन को भी तीन महीने के लि‍ए और बढ़ा दि‍या था ताकि बाहर से सस्‍ता चना न आ सके और कि‍सानों को वाजि‍ब दाम मि‍ल सकें। मसूर पर भी 30 फीसदी की इंपोर्ट ड्यूटी है।  मगर इन कदमों के बावजूद मार्केट में इन दोनों के दाम टूट गए। 
 
घाटे में जा रहा है कि‍सान 
जय कि‍सान आंदोलन के राष्‍ट्रीय संयोजक अवि‍क साहा ने कहा कि इस बात को दो महीने बीत चुके हैं जब वि‍त्‍तमंत्री अरुण जेटली ने वादा कि‍या था कि वह कि‍सानों को एमएसपी दि‍लाएंगे। इसलि‍ए पूरे देश के लि‍ए यह जानना जरूरी हो जाता है कि कि‍सानों को उनकी फसलों का वाजि‍ब दाम मि‍ल भी रहा है या नहीं। 
 
साहा ने कहा कि‍ चना, मूंगफली, सरसों, मसूर और जौ एमएसपी से कहीं नीचे बि‍क रहे हैं। चने का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 4400 रुपए है, जबकि मंडि‍यों में इसका औसत मॉडल प्राइज 3750 रुपए है। यानी एक क्‍विंटल पर 650 रुपए का सीधा नुकसान कि‍सान को उठाना पड़ रहा है। 
इसी तरह से सरसों का एमएसपी 4000 रुपए है जबकि इसका मॉडल प्राइज करीब 3515 रुपए है, यानी हर एक क्‍विंटल पर 501 रुपए का नुकसान कि‍सान को उठाना पड़ रहा है। इसी तरह से मूंगफली (रबी) का न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍य 4450 रुपए है। इसका मॉडल प्राइज 3758 रुपए के आसपास है। यानी 692 रुपए कम। 
चने का बाजार भाव 
मंडी        राज्‍य कीमतें 
देवास मध्‍यप्रदेश 3520 
पिपरि‍या मध्‍यप्रदेश 3450
अकोट  महाराष्‍ट्र 3400 
लातूर महाराष्‍ट्र  3483
गडग कर्नाटक 3824 

 

एमएसपी - 4400 रुपए प्रति‍ क्‍विंटल 
स्रोत - एगमार्क नेट, 31 मार्च 
 
 
10 अप्रैल के बाद से बढ़ सकती है डिमांड 
मार्केट मि‍रर के एग्री रि‍सर्च हेड हि‍तेश भाला के मुताबि‍क, अभी बाजार में डिमांड नहीं है। सरकार ने बाजार पर कई तरह की पाबंदि‍यां लगाई हुई हैं, खासतौर पर कैश पेमेंट को लेकर। इसके चलते अभी उतनी ही खरीदारी हो रही है, जितनी जरूरत है। अभी मार्च में फाइनेंशि‍यल ईयर की क्‍लोजिंग भी थी। इसका असर भी बाजार पर पड़ा। हालांकि 10 अप्रैल के बाद से डि‍मांड बढ़ने की उम्‍मीद है। 
मसूर का बाजार भाव  
 
मंडी  राज्‍य  कीमतें
छापीहेड़ा मध्‍यप्रदेश  3294
बि‍ना मध्‍यप्रदेश 3080
कटनी मध्‍यप्रदेश 3156
नागोद मध्‍यप्रदेश    3238
कानपुर  यूपी 3299 
महोबा उत्‍तर प्रदेश 2889 
उरई यूपी  3181 

 

एमएसीपी - 4250 रुपए प्रति क्‍विंटल 
स्रोत - एगमार्क नेट, 31 मार्च 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट