बिज़नेस न्यूज़ » Industry » Agri-Bizगेहूं का रकबा 4% घटा, पैदावार कम होने की अनुमान

गेहूं का रकबा 4% घटा, पैदावार कम होने की अनुमान

इस बार गेहूं की पैदावार पि‍छले साल के मुकाबले कुछ कम रह सकती है।

Area sown to wheat has declined 4.27 per cent in the current rabi season of 2017-18

नई दि‍ल्‍ली। इस बार गेहूं की पैदावार पि‍छले साल के मुकाबले कुछ कम रह सकती है। मौजूदा रबी सीजन में गेहूं का रकबा पि‍छले साल के मुकाबले 4.27 फीसदी गि‍रा है। इस बार कुल 30.42 मि‍लि‍यन हेक्‍टेयर में गेहूं की बुवाई हुई है। इसकी वजह से उत्‍पादन गि‍र कर 9.838 करोड़ टन रह सकता है। कृषि‍ वर्ष 2016-17 (जुलाई-जून) में कि‍सानों ने 31.78 मि‍लि‍यन हेक्‍टेयर में गेहूं की बुवाई की थी। 


आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, गेहूं के रकबे में गिरावट की सबसे बड़ी वजह यह है कि मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और उत्तराखण्ड में बुआई कम हुई है। गेहूं की बुआई रकबे में सबसे ज्यादा गिरावट मध्यप्रदेश में आई है। यहां  रकबा 11 लाख हेक्टेयर घटा है। 

 

घटेगा उत्‍पादन 
इंडस्‍ट्री एक्सपर्ट्स का कहना है कि बुआई कम होने से 2017-18 में गेहूं का उत्पादन पिछले साल के मुकाबले घट सकता है। उनका कहना है कि 3.1 टन औसत उत्पादन अनुमान होने से गेहूं का कुल उत्पादन 9.4 करोड़ टन से 9.6 करोड़ टन के बीच रह सकता है। 2017-18 में कृषि मंत्रालय ने 9.75 करोड़ टन गेहूं उत्पादन का लक्ष्य रखा है। हालांकि, मंत्रालय को उम्मीद है कि गेहूं का उत्पादन 10 करोड़ टन के पार जा सकता है. गेहूं की कटाई अगले महीने से शुरू होगी। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट