Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Personal Finance »Experts» FDI In Insurance Raised To 49 Per Cent, Premiums To Get Lowered

    बीमा में 49 फीसदी एफडीआई से सस्ता होगा प्रीमियम

    बीमा में 49 फीसदी एफडीआई से सस्ता होगा प्रीमियम
    भारत में बीमा के क्षेत्र में 49 फीसदी एफडीआई का रास्ता साफ होने से भारतीय बीमा कंपनियां काफी उत्साहित हैं। सरकार के इस कदम से जहां इकोनॉमी को रफ्तार मिलेगी। वहीं, ग्राहकों को वर्ल्ड क्लास सेवाएं मिलेंगी। साथ ही बीमा खर्च भी कम होगा। भारतीय बीमा इंडस्ट्री को इसका लंबे समय से इंतजार था। जिसको देखते हुए कंपनियों का जोर ग्राहकों को लुभाने के लिए सस्ते हेल्थ इंश्योरेंस प्रोडक्ट पर होगा।
     
    सरकार ने बीमा के क्षेत्र में 49 फीसदी एफडीआई का रास्ता खोलकर इंश्योरेंस कंपनियों को ग्राहकों के लिए बेहतर सेवा देने का अवसर उपलब्ध कराया है। इससे बीमा कंपनियों को अपने विस्तार का मौका मिलेगा। साथ ही कंपनियों को फंड आसानी से मिल सकेगा। जो कि देश की इकोनॉमी के लिए अच्छा है। कुल मिलाकर ग्राहक और कंपनी सभी के लिए यह “विन-विन” स्थिति है।
     
    बीमा क्षेत्र में नई कंपनियों के आने से प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी। जिसका फायदा ग्राहक को हर तरह से होगा। न केवल उसे बेहतर उत्पाद मिलेंगे, बल्कि प्रीमियम में भी कमी आएगी। साथ ही ग्राहकों को बेहतर सेवा मिलेगी। अगर पुरानी स्थिति देखें, जब निजी कंपनियों के लिए दरवाजे नहीं खुले थे, तो उसकी तुलना में अभी ग्राहक काफी बेहतर स्थिति में हैं। इस अवधि में सर्विस भी बेहतर हुई है और प्रीमियम भी कम हुआ है। ऐसे में सरकार के इस नए कदम से ग्राहक को “वैल्यू फॉर मनी” मिलेगी।
     
    बीमा उद्योग डायरेक्ट और इनडायरेक्ट रूप से बड़ी संख्या में रोजगार देने वाला क्षेत्र है। एफडीआई के जरिए पूंजी आने के बाद कंपनियों के लिए अपना विस्तार करना आसान हो जाएगा। क्‍योंकि, अभी भी भारत में बीमा की पहुंच 4-5 फीसदी तक है। ऐसे में बीमा कंपनियों के पास विस्तार का बड़ा अवसर है। जिसका सीधा फायदा लोगों को नई नौकरियों के रूप में मिलेगा। इसके अलावा, भारी मात्रा में इंफ्रास्ट्रक्चर निवेश भी होगा। जिसमें आईटी निवेश कहीं ज्यादा होगा। इन सबसे भारतीय अर्थव्यवस्था को बूस्ट मिलेगा।
     
     इरडा को ज्यादा अधिकार मिलने से इंडस्ट्री ज्यादा रेगुलेट होगी। साथ ही अच्छा काम करने वालों को प्रोत्साहन मिलेगा। कुल मिलाकर यह एक तरह से बेहतर कारोबारी माहौल को विकसित करने में मदद करेगा।
     
    लेखकतपन सिंघेल बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ हैं। 

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY