बिज़नेस न्यूज़ » Experts » Personal Financeपीएम के न्‍यू इंडिया में एनबीएफसी का रोल होगा अहम: रमन अग्रवाल

पीएम के न्‍यू इंडिया में एनबीएफसी का रोल होगा अहम: रमन अग्रवाल

केंद्र सरकार ने गवर्नेंस को बेहतर बनाने के लिए गतिशीलता और क्लियर विजन प्रदर्शित किया है

nbfc played important role in nation building

केंद्र सरकार ने गवर्नेंस को बेहतर बनाने के लिए गतिशीलता और क्लियर विजन प्रदर्शित किया है जिससे गवर्नेंस में लक्ष्‍य आधारित अप्रोच आई है। विश्‍व बैंक द्वारा तय किए गए जाने वाले ईज ऑफ डुइंग बिजनेस इंडेक्‍स पर आधारित भारत की रैकिंग में आई उछाल इस बात का शानदार उदाहरण है। इसके बाद रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की रेटिंग को अपग्रेड किया है। इससे अंतरराष्‍ट्रीय संस्‍थाओं द्वारा भारत में हुए ढांचागत सुधारों को लेकर की जा रही सराहना को और मजबूती मिली है।

 

रुपया डॉलर के अगेंस्‍ट मजबूत हो रहा है और वास्‍तविक इंटरेस्‍ट रेट आकर्षक है। ऐसे में विदेशी निवेश का प्रवाह और तेज होगा। टारगेट बेस्‍ड गवर्नेंस की अप्रोच को जारी रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2022 तक न्‍यू इंडिया के लिए एजेंडा सामने रखा है। नॉन बैकिंग फाइनेंस कं‍पनियों ने पिछले 8 दशक के दौरान राष्‍ट्र निर्माण में अहम योगदान दिया है। हालांकि उनके योगदान को उतनी मान्‍यता नहीं मिली है जितनी मिलनी चाहिए थी। मूडीज ने कहा है कि भारत की रेटिंग अपग्रेड का सबसे अहम पहलू यह है कि केंद्र सरकार ने आर्थिक गतिविधियों को संगठित क्षेत्र में लाने का प्रयास किया है।

 

एनबीएफसी कंपनियों ने देश के रूरल, सेमी अरबन और अरबन इलाकों में ऐसी आबादी को वित्‍तीय सेवाएं मुहैया कराई हैं जिनको बैंकिंग सुविधाएं उपलब्‍ध नहीं है। इसकी वजह से देश की बड़ी आबादी साहूकारों और ऊंची ब्‍याज दर कर्ज देने वालों के चंगुल से मुक्‍त हो कर फॉर्मल इकोनॉमी का हिस्‍सा बनी है। 

 


एनबीएफसी ने वित्‍तीय समावेशन को बढ़ावा दिया 

 

एनबीएफसी ने पिछले कई दशकों में अर्थव्‍यवस्‍था के विकास में अहम भूमिका निभाई है। चाहे रूरल और सेमी अरब इलाकों में वित्‍तीय सेवाएं मुहैया कराने का मामला हो या ट्रांसपोर्ट सेक्‍टर, एसएमई और एमएसएमई सेक्‍टर को लोन मुहैया कराना रहा हो। इससे ग्रोथ को बढ़ावा मिला है। 

 

एनबीएफसी सेक्‍टर का वित्‍त वर्ष 2016 -17 में प्रदर्शन 

   ग्रोथ-     14.50 %
  नेट प्रॉफिट- 14 % 
 ग्रॉस एनपीए- 4.40 %
 नेट एनपीए- 2.30 %
 सीआरएआर- 22%

 

(लेखक रमन अग्नवाल फाइनेंस इंडस्‍ट्री डेवलपमेंट काउंसिल के चेयरमैन हैं) 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट