Home »Economy »Taxation» Direct Tax Growth Rate Is 14.2% In Provisional Tax Collection Figures For 2016-17

टैक्‍स रेवेन्‍यू 18% बढ़कर 17.10 लाख करोड़ हुआ, 6 साल में सबसे ज्‍यादा

नई दिल्‍ली. 2016-17 के दौरान कुल नेट टैक्‍स रेवेन्‍यू 18 फीसदी बढ़कर 17.10 लाख करोड़ रुपए हो गया। यह पिछले 6 साल में सबसे ज्‍यादा है। इसमें डायरेक्‍ट टैक्‍स ग्रोथ रेट 14.2 फीसदी और इनडायरेक्‍ट टैक्‍स ग्रोथ रेट 22 फीसदी है। बता दें कि सरकार ने टैक्‍स कलेक्‍शन के प्रोविजनल आंकड़े जारी किए हैं। इनडायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 22 फीसदी बढ़ा...
 
 

- फाइनेंस मिनिस्‍ट्री के रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट के मुताबिक, 2016-17 में प्रोविजनल नेट टैक्‍स कलेक्‍शन में डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 14.2 फीसदी बढ़कर 8.47 लाख करोड़ और इनडायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 22 फीसदी बढ़कर 8.63 लाख करोड़ हो गया।
- इससे पहले, 2016-17 के लिए नेट टैक्‍स कलेक्‍शन का रिवाइज्‍ड अनुमान 16.97 लाख करोड़ रुपए था। इसमें डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन का टारगेट 8.47 लाख करोड़ और इनडायरेक्‍ट टैक्‍स का 8.5 लाख करोड़ रुपए था।
 
डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन में 100% अचीवमेंट
- मार्च 2017 तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन के प्रोविजनल आंकड़ों के मुताबिक नेट कलेक्‍शन पिछले साल के मुकाबले 14.2 फीसदी बढ़कर 8.47 लाख करोड़ हो गया। यह 2016-17 के लिए 100 फीसदी अचीवमेंट है। डायरेक्‍ट टैक्‍स में कॉरपोरेट इनकम टैक्‍स (सीआईटी) और पर्सनल इनकम टैक्‍स (पीआईटी) शामिल है।  
- मार्च 2017 तक कॉरपोरेट टैक्‍स कलेक्‍शन में 13.1 फीसदी और पर्सनल इनकम टैक्‍स में 18.4 फीसदी रहा। हालांकि, रिफंड के बाद नेट कॉरपोरेट टैक्‍स ग्रोथ 6.7 फीसदी और पर्सनल इनकम टैक्‍स ग्रोथ 21 फीसदी है।
- अप्रैल 2016- मार्च 2017 के दौरान 1.62 लाख करोड़ रुपए का रिफंड किया गया, जो 2015-16 में किए गए रिफंड से 32.6 फीसदी ज्‍यादा है।
 
सेंट्रल एक्साइज नेट कलेक्‍शन पिछले साल से 33.9% ज्यादा
- 2016-17 में प्रोविजनल इनडायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 2015-16 के मुकाबले 22 फीसदी बढ़कर 8.63 लाख करोड़ है। इनडायरेक्‍ट टैक्‍स में सेंट्रल एक्‍साइज, सर्विस टैक्‍स और कस्‍टम्‍स शामिल हैं।
- सेंट्रल एक्‍साइज का नेट कलेक्‍शन मार्च 2017 तक 3.83 लाख करोड़ रुपए रहा। यह पिछले फाइनेंशियल ईयर के मुकाबले 33.9 फीसदी ज्‍यादा है।
- नेट सर्विस टैक्‍स कलेक्‍शन 2.54 लाख करोड़ रुपए रहा। यह पिछले फाइनेंशियल ईयर के मुकाबले 20.2 फीसदी ज्‍यादा है।
- नेट कस्‍टम कलेक्‍शन 2016-17 में 2.26 लाख करोड़ रुपए रहा, जो पिछले फाइनेंशियल ईयर के मुकाबले 7.4 फीसदी ज्‍यादा है। 
 
पिछले 6 साल में टैक्‍स कलेक्‍शन-
फाइनेंशियल ईयर        नेट टैक्‍स रेवेन्‍यू

2016-17                     17.10 लाख करोड़ (प्रोविजनल)
2015-16                     14.60 लाख करोड़ (प्रोविजनल)
2014-15                     12.44 लाख करोड़ (एक्‍चुअल)
2013-14                     11.38 लाख करोड़ (एक्‍चुअल)
2012-13                     10.36 लाख करोड़ (एक्‍चुअल)
2011-12                     8.89 लाख करोड़ (एक्‍चुअल)
(नोट- टैक्‍स कलेक्‍शन के आंकड़े बजट डॉक्‍युमेंट के अनुसार हैं।)

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY