Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Economy »Taxation» As Per I-T Records, There Are 3.65 Crore Individuals Who Filed Income Tax Returns

    I-T ने चलाया ‘ऑपरेशन क्‍लीन मनी’, अब तक 1 करोड़ अकाउंट्स की स्‍कैनिंग

    नई दिल्‍ली.नोटबंदी के बाद बैंक अकाउंट्स में डिपॉजिट की अनअकाउंटेड मनी को पकड़ने के लिए इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने ‘ऑपरेशन क्‍लीन मनी’ चलाया है। इसके तहत, टैक्‍स डिपार्टमेंट ने करीब 1 करोड़ बैंक अकाउंट्स की स्‍क्रूटनी की है। 18 लाख लोगों से फंड का सोर्स बताने को कहा गया है। आईटी डिपार्टमेंट ने 31 जनवरी को 'ऑपरेशन क्‍लीन मनी' लॉन्‍च किया था।25 करोड़ से ज्यादा जनधन अकाउंट...
     
     

    - टैक्‍स डिपार्टमेंट के सूत्रों के मुताबिक, डाटा बैंक में 1 करोड़ से ज्यादा अकाउंट्स के जरिए यह बड़ी डाटा एनालसिस की गई है।
    - आईटी रिकॉर्ड्स के मुताबिक, 3.65 करोड़ इंडिविजुअल्‍स ने इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल किया। 7 लाख कंपनियों, 9.40 लाख हिंदू अनडिवाइडेड फैमिलीज (एचयूएफ) और 9.18 लाख फर्म्‍स ने असेसमेंट ईयर 2014-15 के दौरान आईटीआर फाइल किया।
    - सरकार के फाइनेंशियल इन्‍क्‍लूजन प्रोग्राम के तहत 25 करोड़ से ज्‍यादा जीरो बैलेंस पर जनधन अकाउंट खोले गए।
     
    सभी कैटेगरी के अकाउंट्स की स्‍क्रूटनी
    - सूत्रों के मुताबिक, आईटी डिपार्टमेंट सभी कैटेगरी के बैंक अकाउंट्स की स्‍क्रूटनी कर रहा है। इसके बाद शक वाले अकाउंट्स डिपॉजिट पर ‘ऑपरेशन क्‍लीन मनी’ के तहत एसएमएस और ईमेल से जवाब मांगा जाएगा।
    - एक करोड़ अकाउंट्स की स्‍क्रूटनी के बाद 18 लाख लोगों को आइडेंटिफाई किया गया। इन अकाउंट्स में पांच लाख रुपए से ज्‍यादा का डिपॉजिट हुआ है।
    - आईटी के मुताबिक, डाटा एनालिटिक्‍स का काम और तेजी से किया जा रहा है। इसे डिपार्टमेंट के डाटा बेस से मिलाया जाएगा।
     
    टैक्‍सपेयर्स परेशान न हों, इसके लिए तय किए स्टैंडर्ड
    - टैक्‍सपेयर्स की परेशानी को कम करने के लिए रेवेन्‍यू डिपार्टमेंट ने नोटिस भेजने के कुछ स्टैंडर्ड तय किए हैं।
    - इसके तहत असिसटेंट कमिशनर्स और उसके ऊपर रैंक के अफसर ही नोटबंदी के बाद बैंकों से मिली संदेह वाले डिपॉजिट पर नोटिस भेज सकेंगे।
     

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY