विज्ञापन
Home » Economy » TaxationKanhaiya benefited by digital India Campaign received highest amount of money

फंडिंग / कन्हैया को मिला डिजिटल इंडिया का सपोर्ट, चुनाव में ऑनलाइन फंड ट्रांसफर से जुटाई सबसे ज्यादा रकम

आम आदमी पार्टी फंडिंग के मामले में रही दूसरे स्थान पर

Kanhaiya benefited by digital India Campaign received highest amount of money

नई दिल्ली. बेगूसराय से सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया क्राउड फंडिंग में सबसे आगे हैं। वो एक मात्र ऐसे प्रत्याशी हैं, जिन्होंने चुनाव आयोग के तय खर्च लिमिट 70 लाख रुपए क्राउड फंड़िंग के जरिए जुटाए हैं। कन्हैया ने सारी फंडिंग ऑनलाइन चंदा ट्रांसफर से जुटाई है, जो कि पीएम मोदी डिजिटल इंडिया मुहिम का हिस्सा है। कन्हैया डिजिटल इंडिया मुहिम की विरोध करते रहे हैं। लेकिन चुनाव में वहीं उनके काम आयी। कन्हैया के बाद आम आदमी पार्टी का नंबर आता है। आप उम्मीदवार अतिशी को कुल 59,31 लाख रुपए ऑनलाइन चंदे से मिले हैं। 

 

क्या होती है क्राउड फंडिंग

जैसा कि नाम से मालूम होता है कि क्राउड यानी भीड़, जो पैसा भीड़ से इकट्ठा किया जाता है उसे क्राउड फंडिंग कहते हैं। वो पैसा जो कन्हैया के अकाउंट में आम लोगों की तरफ से एक, दो रुपए से लेकर हजारों और लाखों में आया है। कन्हैया के मुताबिक वो चुनाव केवल जनता के पैसों से लड़ना चाहते हैं। कन्हैया का मानना है कि जो दल कॉर्पोरेट फंडिंग के जरिए यानी उद्योगपतियों से पैसा लेते हैं, वो चुनाव बाद उन्हीं के इशारे पर काम करते हैं, वो जनता के लिए काम नहीं कर पाते हैं। 

बेगूसराय सीट 

इस सीट पर केंद्रीय मंत्री रहे गिरिराज सिंह भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। उनकी टक्कर सीपीआई उम्मीदवार कन्हैया कुमार से होगी, जो जेएनयू में कथित तौर पर देशविरोधी नारे लगाने के आरोपों के बाद देशभर में चर्चा का केंद्र रहे। वहीं तीसरे प्रमुख उम्मीदवार महागठबंधन के राजद से तनवीर हसन हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन