Home » Economy » TaxationI T issue notices to those who deposited suspicious amounts in banks post DeMo

नोटबंदी के बाद हुए ‘संदिग्‍ध’ डिपॉजिट्स पर जल्द जारी होंगे नोटिस, CBDT ने दी जानकारी

IT उन लोगों को नोटिस जारी करने जा रहा है जिन्‍होंने नोटबंदी के बाद बैंक खातों में संदेहास्‍पद कैश जमा किया है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट जल्द ही उन लोगों को नोटिस जारी करने जा रहा है जिन्‍होंने नोटबंदी के बाद बैंक खातों में ‘संदेहास्‍पद’ कैश जमा किया है। डिपार्टमेंट पहले ही ऐसी जमाओं के बारे में सफाई मांग चुका है, लेकिन लोगों ने इसका उत्‍तर नहीं दिया। इस बात की जानकारी सीबीडीटी के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने दी। उन्‍होंने बताया कि नोटबंदी के बाद फाइन रिटर्न में से 20 हजार से ज्‍यादा को डिटेल स्‍क्रूटनी के लिए छांटा गया है।

तय समय बीतने के बाद भी नहीं भरा आईटी रिटर्न

चंद्रा ने बताया कि आईटी रिटर्न भरने का तय समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक काफी लोगों ने अपना रिटर्न फाइल नहीं किया है। उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी के बाद आपरेशन क्‍लीन मनी (ओसीएम) के तहत यह अनिवार्य है। यह अभियान नोटबंदी के बाद ब्‍लैकमनी को पकड़ने लिए चलाया गया है।

 

लोगों को दिया गया पूरा समय

उन्‍होंने कहा कि आपरेशन क्‍लीन मनी के तहत लोगों को पूरा मौका दिया गया है। लेकिन लोगों ने अंतिम तिथि बीत जाने के बाद भी रिटर्न फाइल नहीं किया है। इसलिए अब ऐसे लोगों को विभाग इनकम टैक्‍स की एक्‍ट की धारा 142 (1) के तहत नोटिस जारी करने जा रहा है। चंद्रा इंटरनेशनल ट्रेड फैयर की शुरुआत के दौरान पत्रकारों से बोल रहे थे।

 

रिटर्न भरने वालों का किया जा रहा मिलान

उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों ने अपना रिटर्न फाइल कर दिया है उनके रिटर्न को जांचा जाएगा। नोटबंदी के दौरान जमा कराई गई रकम और रिटर्न में दिया विवरण का मिलान कराया जाएगा। इसमें देखा जाएगा कि उन्‍होंने सही जानकारी दी है कि नहीं।

 

नोटबंदी के बाद रिटर्न फाइल करने वाले 20 फीसदी बढ़े

उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी और अापरेशन क्‍लीन मनी के बाद देश में इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्‍या में 20 फीसदी का इजाफा हुआ है। उन्‍होंने कहा कि ओसीएम को विभाग ने बड़ी सफलता के साथ चलाया है। उन्‍होंने बताया कि इंडिविजुअल कैटेगरी में रिटर्न फाइल करने वालों की संख्‍या में 23.5 फीसदी की बढ़त दर्ज हुई है। इस दौरान प्रीजम्प्टिव स्‍कीम में टैक्‍स फाइल करने वालों की संख्‍या में 50 फीसदी का सुधार दिखा है। चंद्रा के मुताबिक इससे लगता है कि लोग अब साफ सुथरी आय चाहते हैं।

 
पैन के लिए आवेदन की संख्‍या में 300 फीसदी की बढ़ोत्‍तरी
उन्‍होंने बताया कि परमानेंट अकाउंट नम्‍बर (पैन) लेने के लिए आवेदन में 300 फीसदी की बढ़त देखी गई है। उन्‍होंने कहा कि नोटबंदी के पहले हर माह करीब 2.5 लाख पैन के लिए आवेदन आते थे, जो अब बढ़कर 7.5 लाख हो गई है।
 
 
 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट