Home » Economy » TaxationP Chidambaram Asked Us to Help in Karti Business: Mukerjeas

चिदंबरम ने कहा था बेटे के बि‍जनेस में करें मदद, पीटर और इंद्राणी ने दि‍या बयान

कार्ति‍ चिदंबरम को सीबीआई ने पीटर और इंद्राणी मुखर्जी के इकबालि‍या बयान के आधार पर गि‍रफ्तार कि‍या है।

P Chidambaram Asked Us to Help in Karti Business: Mukerjeas

नई दि‍ल्‍ली। कार्ति‍ चिदंबरम को सीबीआई ने INX Media लि‍मिटेड के डायरेक्‍टर्स पीटर और इंद्राणी मुखर्जी के इकबालि‍या बयान के आधार पर गि‍रफ्तार कि‍या है। पीटर और इंद्राणी मुखर्जी ने आरोप लगाया था कि उन्होंने कार्ति के पिता पी. चिदंबरम के निर्देशों पर एफआईपीबी क्लीयरेंस के लिए उन्हें 7 लाख डॉलर दिए थे। दोनों के बयान प्रवर्तन नि‍देशालय (ईडी) ने रि‍कॉर्ड कि‍ए हैं। इस केस में मनी लॉन्‍डरिंग के हि‍साब से बयान दर्ज कि‍ए गए हैं, जबकि‍ सीबीआई ने केवल इंद्राणी के बयान को मजि‍स्‍ट्रेट के सामने जाने से पहले CrPC के सेक्‍शन 164 के तहत दर्ज कि‍या है। 

 

चिदंबरम से नॉर्थ ब्‍लॉक में मि‍ले थे दोनों दंपती

 

कार्ति‍ को सीबीआई ने लंदन से वापस लौटते वक्‍त चेन्‍न्‍ई एयरपोर्ट पर INX Media मामले में गि‍रफ्तार कि‍या है। दोनों पीटर और इंद्राणी ने आरोप लगाया है कि‍ पूर्व वि‍त्‍त मंत्री पी. चिदंबरम ने नॉर्थ ब्‍लॉक ऑफि‍स में मि‍ले और उन्‍होंने ने 2007 में इनकम टैक्‍स डि‍पार्टमेंट की ओर अनि‍यमि‍तताओं की पहचान करने के बाद वि‍देशी नि‍वेशी के लि‍ए क्‍लीयरेंस की मांग की थी। 

 

नीरव मोदी ने जांच के लिए आने से CBI को मना किया, ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी

 

 

कार्ति‍ ने मांगे थे 10 लाख डॉलर 

 

अधि‍कारी ने कहा कि‍ दोनों के बयान के मुताबि‍क, उस वक्‍त चि‍तंबरम ने उनसे 'उनके बेटे के बि‍जनेस में मदद करने और इसके लि‍ए वि‍देश से पैसे भेजने' के लि‍ए कहा। उन्होंने बताया कि दंपती ने यह भी स्वीकार किया था कि वे दिल्ली के एक फाइव स्‍टार होटल में कार्ति से मिले थे, जहां उन्होंने कथित रूप से 10 लाख डॉलर की मांग की थी। इंद्राणी ने सीबीआई और ईडी को दि‍ए अपने बयान में कन्‍फर्म कि‍या कि‍ उन्‍होंने कार्ति‍ से वि‍देशी कंपनि‍यों के बैंक खातों में 7 लाख डॉलर की पेमेंट की थी। 

 

इन कंपनि‍यों में की गई पेमेंट

 

पीटर और इंद्राणी जो अपनी बेटी शीना बोरा को मारने के आरोप में मुकदमा का सामना कर रहे हैं, उन्‍होंने अपने बयान में कहा कि‍ कार्ति‍ ने चेस मैनेजमेंट और एडवांटेज स्‍ट्रेटजी जैसी कंपनि‍यों के नाम पर पेमेंट करने के लि‍ए कहा था। शीना बोरा हत्‍या मामले की जांच सीबीआई कर रही है।  

कब दर्ज किया गया कार्ति के खिलाफ केस?

 

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, यह केस 2006-07 का है। इस संबंध में सीबीआई ने कार्ति के खिलाफ पिछले साल 15 मई को मामला दर्ज किया। उन पर आपराधिक साजिश रचने, धोखाधड़ी, रिश्वत लेने और अफसरों को अपने प्रभाव में लेने का आरोप है।

 

मोदी सरकार का बिग प्‍लान, साल 2058 के ट्रैफिक रिक्‍वायरमेंट के हिसाब से बनेंगे हाईवे

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट