Home » Economy » Taxationmp and mla with income in crores without pan card details adr report

ये सांसद-विधायक हैं करोड़ों के मालिक, पर नहीं रखते हैं PAN CARD

आम जनता से मामूली ट्रांजैक्शन पर भी मांगा जाता है PAN

1 of


नई दिल्ली. आपको अगर बैंक में कोई भी ट्रांजैक्शन करनी हो या कोई लोन लेना हो तो आपसे बार-बार परमानेंट अकाउंट नंबर (PAN) डिटेल मांगी जाती है, लेकिन आपको यह जानकार हैरानी होगी कि देश में कई ऐसे सांसद और विधायक हैं, जिनकी पैन डिटेल ही नहीं है। चुनावी सुधार पर काम करने वाली एडीआर (एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक्स रिफॉर्म्स) द्वारा जारी रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। एडीआर के मुताबिक, सात वर्तमान सांसदों और 199 विधायकों ने चुनाव आयोग में अपने पैन की डिटे नहीं दी है। एडीआर ने चुनाव आयोग के पास जमा कराए गए शपथ पत्र की स्टडी करने के बाद यह जानकारी दी है। रिपोर्ट में कहा गया है  कि 11 सांसद व 35 विधायक ऐसे भी हैं, जो दूसरी-तीसरी बाद चुने गए, लेकिन उनके शपथ पत्र में दी गई पैन डिटेल में गड़बड़ी है। 

 

करोड़ों के हैं मालिक 
जिन सांसदों व विधायकों ने पैन डिटेल नहीं दी है, उनमें से कई करोड़ पति हैं। सात सांसदों में से मिजोरम के कांग्रेसी सांसद सीएल रुआला की संपत्ति 2.57 करोड़ तो ओड़िशा के भुवनेश्वर संसदीय क्षेत्र के सांसद प्रसन्ना कुमार की संपत्ति 1.35 करोड़ रुपए है। हालांकि इस लिस्ट में लक्षद्वीप के मोहम्मद फैजल भी शामिल हैं, जिनकी संपत्ति कुल 5.38 लाख रुपए ही है। इसमें असम करीमगंज के राधेश्याम बिश्वास (संपत्ति 70.68 लाख), ओडिशा जाजपुर की सांसद रीता तराई (संपत्ति 16.22 लाख), तमिलनाडु, कृष्णानगरी के सांसद अशोक कुमार (संपत्ति 11.76 लाख) व तिरुवनामलाई के सांसद वनारोजा आर (संपत्ति 37  लाख) के नाम भी शामिल हैं। इन सांसदों ने अपने शपथ पत्र में पैन डिटेल नहीं दी है। 

 

आगे पढ़ें : सांसदों से आगे एमएलए

सांसदों से आगे एमएलए 
संपत्ति के मामले में सांसदों से आगे विधायक हैं। कई एमएलए के पास 20 करोड़ से अधिक संपत्ति हैं, लेकिन उन्होंने भी अपनी पैन डिटेल जमा नहीं कराई है। मणिपुर के एक एमएलए की संपत्ति 36 करोड़ है तो मिजोरम के एमएलए की संपत्ति 25 करोड़ रुपए। 

 

 

आगे पढ़ें : पैन में गड़बड़ी 

पैन में गड़बड़ी 
एडीआर की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि कई सांसद व एमएलए ऐसे हैं, जो एक से अधिक बार तो चुने गए हैं, लेकिन जब उन्होंने अलग-अलग बार शपथ पत्र जमा कराया तो उसमें पैन की अलग-अलग जानकारी दी गई है। जैसे कि, पहले पैन नंबर कुछ और था और बाद में बदला हुआ था। यहां दिलचस्प बात यह है कि इन सांसदों व एमएलए की सपंत्ति पहली बार सांसद बने नेताओं से कही अधिक है। जैसे कि पुरी से सांसद पिनाकी मिश्रा की संपत्ति 137 करोड़ रुपए है, जबकि महाराष्ट्र के सतारा के सांसद के पास 60 करोड़ रुपए की संपत्ति है।

 

एमपी, एमएलए की पूरी लिस्ट देखने के लिए क्लिक करें  https://adrindia.org/sites/default/files/annexure_Discrepancy_in_PAN_details.pdf

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट