विज्ञापन
Home » Economy » TaxationWhat is the long term Capital gains tax

पत्नी या बेटी के नाम पर खरीदा है घर तो नहीं मिल पाएगा इस छूट का फायदा

लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस पर लगता है 20 फीसदी टैक्स

1 of


नई दिल्ली. अगर आपने पुराने मकान बेचकर नया घर खरीदा है तो जरूरी नहीं कि पहले मकान की बिक्री से होने वाली आय पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस (LTCG) पर छूट मिल जाए। इनकम टैक्स अपीलेट ट्राइब्यूनल (ITAT) की मुंबई बेंच ने एक मामले में इस तरह का फैसला सुनाया है। ITAT ने एक घर बेचकर नया घर खरीदने के बावजूद पहले घर की बिक्री से हुई आय पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस (LTCG) पर टैक्स छूट देने से इनकार कर दिया, क्योंकि टैक्सपेयर ने नया घर अपनी पत्नी और किशोर बेटी के नाम पर खरीदा था। 

 

20 फीसदी लगता है टैक्स 
आयकर कानून के तहत अगर करदाता कोई आवासीय घर कम-से-कम दो साल तक अपने अधीन रखने के बाद बेच देता है तो उस पर मिला लाभ लॉन्ग-टर्म कैपिटल गेंस माना जाएगा। इस पर महंगाई को अजस्ट करने के बाद 20% की दर से टैक्स लगता है। महंगाई को अजस्ट करने को इंडेक्सेशन बेनिफिट कहा जाता है। 

 

किसे मिलती है छूट 
नियम कहता है कि अगर इस लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस को एक निश्चित अवधि के अंदर भारत में नया घर खरीदने में खर्च करता है तो उस रकम पर टैक्स नहीं लगेगा। यानी, पहले घर की बिक्री से हुए लाभ का जितना हिस्सा दूसरे घर की खरीदारी में लगाया जाता है, उतने हिस्से पर टैक्स नहीं देना होगा। मतलब स्पष्ट है कि पहले घर की बिक्री से हुए लाभ का जो हिस्सा दूसरे घर की खरीदारी में खर्च नहीं हो पाया, उसी हिस्से पर टैक्स देना होगा। इस नियम से टैक्सपेयर को टैक्स पर बड़ी छूट मिल जाती है। ध्यान रहे कि टैक्स छूट का यह नियम पहले घर की बिक्री से प्राप्त रकम का तीन साल के अंदर नया घर बनवाने में खर्च करने पर भी लागू होता है। 

 

आगे पढ़ें ......

यह है नया फैसला 
ITAT के सामने आया नया मामला आर गांवकर का है। उन्होंने दूसरा घर पत्नी के साथ संयुक्त रूप से खरीदा। उन्होंने पहले घर की बिक्री से प्राप्त एलटीसीजी पर टैक्स नहीं भरा। इस पर इनकम टैक्स अथॉरिटीज ने उनसे एलटीसीजी की कुल 17.5 लाख रुपये की रकम का आधे पर टैक्स की मांग की और उनका सेक्शन 54 के तहत डिडक्शन का दावा खारिज कर दिया। उनका दावा इनकम टैक्स कमिश्नर (अपील) की ओर से भी खारिज हो गया। 

 

आगे पढ़ें ... 

गांवकर से क्या कहा गया 

 

उनसे कहा गया कि एलटीसीजी पर टैक्स छूट का लाभ तभी उठाया जा सकता है जब दूसरे घर का मालिक टैक्सपेयर खुद हो। गांवकर इसके खिलाफ ट्राइब्यूनल चले गए जहां से उन्हें फिर से यही बात कही गई। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss