Home » Economy » Taxationइनकम टैक्स डिपार्टमेंट - नोटबंदी में जमा की थी बैंक में ज्यादा रकम, तो 31 मार्च है ITR फाइल करने की डेडलाइन

नोटबंदी में जमा की थी बैंक में ज्यादा रकम, तो 31 मार्च है ITR फाइल करने की डेडलाइन: IT

नोटबंदी के दौरान बैंकों में ज्यादा कैश जमा किया है तो आपके पास 31 मार्च तक इनकम टैक्स रिटर्न भरने का मौका है।

1 of

नई दिल्ली। अगर आपने नोटबंदी के दौरान बैंकों में ज्यादा कैश जमा किया है तो आपके पास 31 मार्च तक इनकम टैक्स रिटर्न भरने का मौका है। अगर 31 मार्च तक ऐसा नहीं करते हैं तो आप पर पेनल्टी लगाई जा सकती है। साथ ही मुकदमे का भी सामना करना पड़ सकता है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने शुक्रवार को इस बारे में आगाह किया है। डिपार्अमेंट ने पॉलिटिकल पार्टीज, ट्रस्ट और संगठनों से भी ऐसा ही करने को कहा है कि अगर उन्होंने उस दौरान ज्यादा कैश जमा किए हैं। 

 

मलविन्‍दर ब्रदर्स पर फोर्टिस से 500 करोड़ निकालने का आरोप, ऑडिटर ने नहीं साइन की बैलेंस शीट

 

गलत जानकारी देने पर भी पेनल्टी 
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने इस बारे में अखबरों में विज्ञापन भी दिया है। विज्ञापन के जरिए यह कहा गया है कि एसेसमेंट ईयर 2016-17 और 2017-18 के लिए देरी या रिवाइज्ड आईटीआर फाइल करने का यह अंतिम मौका है। इस कटेगिरी में आने वाले टैक्स पेयर्स को अंतिम मिनट आने के पहले ही बिना देरी किए आईटीआर फाइल करना चाहिए। यह भी कहा गया है कि गलत आईटीआर फाइल करने पर भी पेनल्टी होगी, न भरने पर तो होगी ही। 

 

इन्हें भी भरना होगा ITR
इनडिविजुअल और अविभाजित हिंदु परिवारों को अगर उनकी सालाना इनकम 2.5 लाख रुपए से ज्यादा है, 60 से 80 साल के सीनियर सिटीजंस की इनकम अगर 3 लाख रुपए से ज्यादा है और 80 साल से ज्यादा उम्र की कटेगिरी में आने वालों की इनकम 5 लाख रुपए से ज्यादा है तो उन्हें भी असेसमेंट ईयर के लिए रिटर्न फाइल करने की जरूरत है। 

 

IT डिपार्टमेंट है सख्‍त 
बता दें कि नोटबंदी में बैंकों में मोटी रकम जमा कराने के बावजूद इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरने वालों के खिलाफ आईटभ्‍ डिपार्टमेंट सख्‍त है। ऑपरेशन क्लीन मनी के तहत नोटबंदी के समय बैंकों मे जमा पैसों की जांच की जा रही है। इनकम टैक्स रिटर्न नहीं भरने वालों को नोटिस भेजे जा रहे हैं। ऐसे लोगों की लिस्ट भी सरकार तैयार कर रही है, जिन्होंने इस दौरान ज्यादा रकम बैंकों में जमा कराई है। सरकार ने ब्लैकमनी पर कंट्रोल करने के लिए 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी का ऐलान किया था और 00 रुपए और 1000 रुपए के पुराने नोट बैन कर दिए थे। 

 

जनवरी तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 19% बढ़कर 6.95 लाख करोड़ हुआ

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट