बिज़नेस न्यूज़ » Economy » TaxationI-T डिपार्टमेंट की इंडस्ट्री को राहत, इनकॉरपोरेशन सर्टिफिकेट को माना जाएगा PAN-TAN का प्रूफ

I-T डिपार्टमेंट की इंडस्ट्री को राहत, इनकॉरपोरेशन सर्टिफिकेट को माना जाएगा PAN-TAN का प्रूफ

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पैन और टैन के प्रूफ की जरूरत के मामले में इंडस्ट्री को बड़ी राहत दी है।

1 of

नई दिल्ली. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने पैन और टैन के प्रूफ की जरूरत के मामले में इंडस्ट्री को बड़ी राहत दी है। आईटी डिपार्टमेंट ने कहा कि मिनिस्ट्री ऑफ कॉर्पोरेट अफेयर्स (एमसीए) द्वारा जारी ‘सर्टिफिकेशन ऑफ इनकॉर्पोरेशन’ (सीओआई) को कंपनियों के लिए पैन या टैन के प्रूफ के तौर पर माना जाएगा। इसका मतलब है कि अब कंपनियों के लिए सर्टिफिकेशन ऑफ इनकॉर्पोरेशन पैन या टैन के प्रूफ के तौर पर भी काम करेगा।

 


जरूरी नहीं होगा लैमिनेटेड पैन कार्ड लेना

फाइनेंस एक्ट, 2018 में इनकम टैक्स एक्ट, 1961 के सेक्शन 139ए में संशोधन कर दिया गया है और लैमिनेटेड कार्ड के तौर पर पैन जारी करने की जरूरत को खत्म कर दिया गया है। इसका मतलब है कि कंपनियों को पैन नंबर तो मिल जाएगा, लेकिन उन्हें लैमिनेटेड कार्ड लेना जरूरी नहीं होगा।

 


पैन-टैन के प्रूफ के तौर पर काम करेगा सीओआई 

आईटी डिपार्टमेंट ने एक रिलीज के माध्यम से कहा, ‘इस प्रकार यह स्पष्ट किया जाता है कि एमसीए द्वारा  जारी सीओआई में उल्लिखित पैन और टैन नंबर स्पष्ट तौर पर संबंधित कंपनी एसेसीज के लिए पैन और टैन के प्रूफ के तौर पर काम करेगा।’

 


सीओआई में होता है पैन-टैन का उल्लेख 

गौरतलब है कि कॉरपोरेट्स के मामले में इनकॉरपोरेशन यानी कंपनी बनाने, पर्मानेंट अकाउंट नंबर (पैन) अलॉटमेंट और टैक्स डिडक्शन एंड कलेक्शन अकाउंट नंबर (टैन) के अलॉटमेंट के लिए एक कॉमन एप्लीकेशन के माध्यम से मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफेयर्स में आवेदन दिया जा सकता है। 

आईटी डिपार्टमेंट ने कहा कि एमसीए द्वारा जारी सर्टिफिकेट ऑफ इनकॉर्पोरेशन में पैन और टैन दोनों का ही उल्लेख होता है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट