बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Taxationबेनामी ट्रांजैक्शन की जानकारी दो और 1 Cr. तक इनाम पाओ, I-T डिपार्टमेंट ने लॉन्च की स्कीम

बेनामी ट्रांजैक्शन की जानकारी दो और 1 Cr. तक इनाम पाओ, I-T डिपार्टमेंट ने लॉन्च की स्कीम

अगर किसी ने ब्लैकमनी छिपाने के लिए बेनामी ट्रांजैक्शन किया है तो इसकी जानकारी देकर 1 करोड़ रु तक रिवार्ड पा सकते हैं।

1 of

 

नई दिल्ली. अगर आपके आसपास किसी ने ब्लैकमनी छिपाने के लिए बेनामी ट्रांजैक्शन किया है तो इसकी जानकारी सरकार को देकर आपको 1 करोड़ रुपए का रिवार्ड पाने का मौका मिल सकता है। दरअसल इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ब्लैकमनी का पता लगाने और टैक्स चोरी में कमी लाने में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए ‘बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फोर्मैंट्स रिवार्ड स्कीम’ लॉन्च की है।

 

 

बेनामी कानून को सख्त बना चुकी है सरकार

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट द्वारा इस संबंध में जारी बयान के मुताबिक, कई मामलों में देखने में आया है कि कई लोगों ने ब्लैकमनी को प्रॉपर्टीज में निवेश किया है, साथ ही निवेशक ने टैक्स रिटर्न में अपनी ओनरशिप को छिपाकर फायदा उठाया है। सरकार इस संबंध में कानूनों को सख्त बनाने के लिए पहले ही बेनामी प्रॉपर्टी ट्रांजैक्शंस एक्ट, 1988 को बेनामी ट्रांजैक्शंस (प्रोबिशन) अमेंडमेंट एक्ट, 2016 के माध्यम से संशोधित कर चुकी है।

 

 

ब्लैकमनी का पता लगाने में बढ़ेगी लोगों की भागीदारी

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ब्लैकमनी का पता लगाने और टैक्स चोरी रोकने में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्य से यह स्कीम लॉन्च की है। इस रिवार्ड स्कीम का उद्देश्य लोगों को बेनामी ट्रांजैक्शंस और प्रॉपर्टीज के बारे में सूचना देने के लिए प्रोत्साहित करना है। इसमें ऐसे ट्रांजैक्शंस से कमाई करने वालों के बारे में भी सूचना दी जा सकती है।

 

 

यहां से मिलेगी पूरी डिटेल

बेनामी ट्रांजैक्शंस इन्फॉर्मैंट्स रिवार्ड स्कीम, 2018 के अंतर्गत कोई व्यक्ति सुझाए गए तरीके से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के इन्वेस्टिगेशन डायरेक्टोरेट में बेनामी प्रोबिशन यूनिट्स (बीपीयू) के ज्वाइंट या एडिशन कमिश्नर्स को संबंधित सूचना दे सकता है। इस रिवार्ड स्कीम के लिए विदेशी भी पात्र होंगे। सूचना देने वालों की पहचान का खुलासा नहीं किया जाएगा और पूरी गोपनीयता बरती जाएगी। इस रिवार्ड स्कीम की पूरी जानकारी सभी इनकम टैक्स ऑफिसेस और इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट पर उपलब्ध है।

 

 

एक अन्य रिवार्ड्स स्कीम में संशोधन

इसके साथ ही डिपार्टमेंट ने एक नई रिवार्ड स्कीम ‘इनकम टैक्स इन्फोर्मैंट्स रिवार्ड स्कीम, 2018’ जारी की, जो 2007 में जारी रिवार्ड स्कीम की जगह लेगी।

इस रिवाइज्ड स्कीम के तहत भारत में इनकम या एसेट्स पर टैक्स चोरी की सूचना देकर 50 लाख रुपए तक का रिवार्ड हासिल किया जा सकता है।

 
 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट