विज्ञापन
Home » Economy » TaxationFear: Bond to be bought for BJP, referring to the expenses of the ministers' tire replacement

आयकर छापा : कथित भाजपा नेता शर्मा के पास बड़े कारोबारियों के चुनावी बॉन्ड मिले, डायरी में भाजपा सरकार में रहे मंत्रियों के नाम

आशंका: भाजपा के लिए खरीदे होंगे बॉन्ड, मंत्रियों की गाड़ियों के टायर बदलवाने का खर्च का जिक्र

Fear: Bond to be bought for BJP, referring to the expenses of the ministers' tire replacement

आयकर छापों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही कांग्रेस पर काला धन और हवाला का उल्लेख कर निशाना साध रहे हैं। लेकिन नई जानकारी जाहिर होते ही भाजपा भी परेशानी में घिर गई है।

नई दिल्ली. 
आयकर छापों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही कांग्रेस पर काला धन और हवाला का उल्लेख कर निशाना साध रहे हैं। लेकिन नई जानकारी जाहिर होते ही भाजपा भी परेशानी में घिर गई है।  सीएम कमलनाथ के करीबियों पर आयकर छापों की कार्रवाई खत्म होने के बाद यह जानकारी सामने आई है कि भोपाल के एनजीओ संचालक आश्विन शर्मा के ठिकानों से कुछ डायरियां और इलेक्ट्रोरल बॉन्ड मिले हैं। कथित तौर पर यह बॉन्ड कई बड़े कारोबारियों के बताए जा रहे हैं। चूंकि, शर्मा ने खुद को भाजपा से जुड़ा बताया है, इसलिए आशंका जताई जा रही है कि यह बॉन्ड भाजपा के लिए खरीदे गए होंगे। 

 

यह भी पढ़ें - 10 बाइ 10 की छोटी सी दुकान में कभी शादी की पत्रिका छापता था यह शख्स, छापे में पता चली अकूत दौलत

 

तीन पूर्व मंत्रियों के नाम के आगे 35 फिगर की एंट्री 

सूत्रों के मुताबिक, छापे के दौरान डायरियों में भाजपा के तीन पूर्व मंत्रियों के नाम के आगे ‘35’ फिगर की एंट्री है। एक अखबार ने दावा किया है कि पूछताछ में शर्मा बताया कि उसके संबंध इन मंत्रियों से थे और रकम (35 हजार ) उसने मंत्रियों की गाड़ियों के टायर बदलवाने में खर्च की थी। जिन तीन पूर्व मंत्रियों के नाम के आगे कुछ रकम लिखी है वे तीनों इस बार भी विधायक चुने गए हैं। प्लेटिनम प्लाजा के निवासियों ने अफसरों को बताया कि पिछली सरकार के कुछ मंत्रियों का अश्विन के घर आना-जाना था।

 

यह भी पढ़ें - सीएम कमलनाथ से पांच गुना ज्यादा है बेटे नकुलनाथ की संपत्ति, 657 करोड़ रुपए के साथ सबसे अमीर प्रत्याशियों में शामिल

 

वन्य जीव संरक्षण के तहत दर्ज होगा मामला 


आयकर विभाग की बड़ी कार्रवाई की जद में आने के बाद चर्चा में आए हाईप्रोफाइल कारोबारी अश्विन शर्मा के ठिकानों पर वन विभाग के अधिकारी भी पहुंचे। भोपाल के वन मंडल अधिकारी एचएस मिश्रा ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देश पर वन विभाग का अमला अश्विन शर्मा के ठिकानों पर भेजा गया है। अमला यह देखेगा कि अश्विन शर्मा के निवास या कार्यालय में वन्य जीव से संबंधित कोई वस्तु है अथवा नहीं। यदि वस्तु है, तो उनके विधिवत कागजात भी हैं या नहीं। गौरतलब है कि शर्मा के पास छापों के दौरान बाघ की खाल, हिरण के सींग समेत कई वन्य जीवों के अवशेष मिले थे। लिहाजा, अब विभाग शर्मा के खिलाफ वन्य जीव संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की तैयारी कर रहा है। 

यह भी पढ़ें - ट्विटर के सीईओ ने चार साल में सिर्फ 96 रुपए की सैलरी ली

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन