Home » Economy » TaxationPetrol prices in Delhi will soon be less than Uttar Pradesh

जल्द ही दिल्ली में यूपी से ज्यादा सस्ता होगा पेट्रोल व डीजल

परंपरागत रूप से दिल्ली में अन्य राज्यों के मुकाबले पेट्रोल और डीजल सस्ता रहता आया है।

1 of

नई दिल्ली.

दिल्ली में पेट्रोल और डीजल जल्दी ही उत्तर प्रदेश के मुकाबले फिर से सस्ता हो जाएगा। इसका कारण मूल्यानुसार शुल्क (वैट) ढांचा है जिसकी वजह से राष्ट्रीय राजधानी में इन दोनों ईंधनों के दाम में अच्छी-खासी कटौती हो रही है। परंपरागत रूप से दिल्ली में अन्य राज्यों के मुकाबले पेट्रोल और डीजल सस्ता रहता आया है। इसका कारण दिल्ली में बिक्री कर यानी वैट की दर कम होना रहा है। भाजपा शासित राज्यों द्वारा पांच अक्तूबर को वैट में कटौती से गाजियाबाद और नोएडा में ईंधन अपेक्षाकृत सस्ता हो गया था। उत्तर प्रदेश के ये दोनों शहर दिल्ली से सटे हैं।

 

एजेंसी की खबर के मुताबिक पेट्रोल, डीजल के दाम में कटौती के दिन पांच अक्तूबर को दिल्ली के मुकाबले उत्तर प्रदेश में पेट्रोल का दाम जहां 3 रुपये लीटर और डीजल 2.3 रुपये लीटर सस्ता हो गया था, वहीं अब यह अंतर कम होकर पेट्रोल पर केवल 44 से 57 पैसे तथा डीजल पर करीब एक रुपए रह गया है। सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों के दैनिक मूल्य संशोधन के विश्लेषण से इस स्थिति का पता चलता है। दिल्ली में मंगलवार को पेट्रोल की कीमत 71.72 रुपये लीटर रही रही जबकि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में 71.15 रुपये तथा नोएडा में 71.28 रुपये लीटर रही। राष्ट्रीय राजधानी में एक लीटर डीजल की कीमत 66.39 रुपये रही। वहीं गाजियाबाद और नोएडा में यह क्रमश: 65.31 रुपये तथा नोएडा में 65.44 रुपये लीटर रही।

 

आगे भी पढ़ें- 

 

 

जल्द ही और कम होंगी कीमतें

उद्योग सूत्रों ने कहा कि कच्चे तेल के दाम में गिरावट जारी रहती है तो यह अंतर अगले कुछ दिनों में समाप्त हो जाएगा। अगले सप्ताह दिल्ली में ईंधन के दाम उससे सटे उत्तर प्रदेश के आसपास के शहरों के मुकाबले नीचे आ जाएंगे।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम गिरने की वजह से पूरे देश में पेट्रोल और डीजल सस्ता हो रहा है। लेकिन अलग-अलग राज्यों में वैट की दर अलग अलग होने की वजह से ईंधन के दाम में होने वाली कटौती भी अलग अलग होती है। कंपनी अधिसूचना के अनुसार दिल्ली में पेट्रोल पर वैट 27 प्रतिशत लगाता है वहीं डीजल पर 16.75 प्रतिशत वैट लगता है और इसके ऊपर वातावरण को बेहतर बनाये रखने के लिये 250 रुपये प्रति किलोलीटर शुल्क लगाया जाता है। वहीं, उत्तर प्रदेश में पेट्रोल पर 23.78 प्रतिशत अथवा 14.41 रुपये लीटर जो भी अधिक हो की दर से वैट लगाया जाता है। डीजल पर यह 14.05 प्रतिशत या 8.43 रुपये लीटर जो भी अधिक हो, की दर से लगाया जाता है। 

 

अागे भी पढ़ें- 

 

 

उप्र के मुकाबले दिल्ली में जल्दी घटता है दाम

सूत्रों का कहना है कि जब दाम घट रहे होते हैं तो उत्तर प्रदेश में वैट को स्थिर दर से लगाया जाता है, इससे मूल्यानुसार के मुकाबले दाम ऊंचे रहते हैं। इससे दिल्ली के मुकाबले उत्तर प्रदेश में दाम में गिरावट कम आती है। यही वजह है कि पेट्रोल, डीजल के दाम दिल्ली में एक बार फिर उत्तर प्रदेश के मुकाबले नीचे आ जायेंगे। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ने पर अगस्त से लेकर चार अक्तूबर तक दिल्ली में पेट्रोल का दाम 84 रुपये लीटर और मुंबई में 91.34 रुपये लीटर की ऊंचाई पर पहुंच गया था। डीजल का दाम दिल्ली में 75.45 रुपये और मुंबई में 80.10 रुपये की लीटर की सर्वकालिक ऊंचाई को छू गया था लेकिन उसके बाद पहले केन्द्र सरकार ने उत्पाद शुल्क कम किया और फिर राज्यों ने वैट में कटौती की। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss