Home » Economy » Taxationmodi govt 4 years मोदी सरकार के 4 साल नोटबंदी उपब्धियां 10 प्‍वाइंट

Modi Govt 4 years: सरकार ने नोटबंदी को बताया सबसे बड़ी उपलब्धि, गिनाए 10 फायदे

कार्यकाल के 4 साल पूरे होने के मौके पर मोदी सरकार ने अपनी उपलब्धियां गिनानी शुरू कर दी हैं

1 of

नई दिल्‍ली। कार्यकाल के 4 साल पूरे होने के मौके पर मोदी सरकार ने अपनी उपलब्धियां गिनानी शुरू कर दी हैं। इसके तहत वित्‍त मंत्रालय ने एक ट्वीट जारी करके नोटबंदी को मोदी सरकार का अहम कदम करार दिया है। मंत्रालय का कहना है कि नोटबंदी   के चलते ऐसी बहुत सी अच्‍छी चीजें हुईं, जिसका फायदा देश के लोगों को हुआ। 

 

ट्वीट में कहा गया है कि मौजूदा सरकार ने अपने 4 साल के कार्यकाल के दौरान बहुत से कदम उठाए। नवंबर 2016 में 500 और 1000 रुपए के लीगल टेंडर को खत्‍म करने का कदम इन्‍हीं में से एक था। अन्य चीजों के साथ इसका मकसद ब्‍लैकमनी पर काबू करने के अलावा डिजिटल इकोनॉमी को बढ़ावा देना भी था। ट्वीट के मुताबिक, नोटबंदी के कई फायदे देखने को मिले। मिनिस्‍ट्री ने इसे 10 प्‍वाइंट में समझाया है।

 

आइए जानते हैं इन्‍हीं 10 प्‍वाइंट्स के बारे में... 

 

प्‍वाइंट नंबर- 1: 8 नवंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस ऐतिहासिक फैसले की घोषणा की। इसके तहत 1000 और 500 की कीमत वाली नोटों को बैन कर दिया गया। 

 

प्‍वाइंट नंबर- 2: ब्लैकमनी, भ्रष्टाचार,  जाली भारतीय मुद्रा के सरकुलेशन, आतंकी फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग को रोकने के लिए मोदी सरकार ने यह कदम उठाया था। 

 

प्‍वाइंट नंबर- 3: नोटबंदी के चलते इंडियन इकोनॉमी पहले के मुकाबले बड़ी, साफ-सुथरी और वास्तविक हो गई। यहां वास्‍तविक से मतलब इकोनॉमी के समांतर चल रही ब्‍लैक इकोनॉमी के खात्‍मे से है। 

 

प्‍वाइंट नंबर- 4: इसके चलते न सिर्फ देश में डिजिटल ट्रांजैक्‍शन को बढ़ावा मिला, बल्कि बड़े पैमाने पर ब्‍लैकमनी को भी मार्केट से बाहर करने में मदद मिली।

 

प्‍वाइंट नंबर- 5: वेतन के कैशलेस भुगतान के लिए देश भर में करीब 50 लाख नए अकाउंट खोले गए। 


प्‍वाइंट नंबर- 6 : नोटबंदी के चलते वित्‍त वर्ष 2016-17 के मुकाबले 2016-17 में नए टैक्‍स रिटर्न फाइल करने वालों की संख्‍या में 29.17 फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली। 2016-17 के मुकाबले 2017-18 में यह बढ़ोतरी 25.1 फीसदी रही। 


प्‍वाइंट नंबर- 7: वित्‍त वर्ष 2016-17 के मुकाबले 2017-18 में ई-रिटर्न फाइलिंग में 25  फीसदी की बढ़ोतरी देखने को मिली। 2013-14 के मुकाबले 2017-18 में यह बढ़ोतरी 81 फीसदी रही। 

 

प्‍वाइंट नंबर- 8: अगस्‍त 2016 के मुकाबले अगस्‍त 2017 में इन्‍स्‍टेंट मनी ट्रांसफर (IMPS) में करीब 59 फीसदी की बढ़ोतरी दखने को मिली। इस दौरान 2.24 लाख फर्जी कंपनियों पर ताला लटकाया गया। 29,212 करोड़ रुपए की कीमत की अघोषित संपत्ति का पता लगाया गया या फिर लोगों ने खुद सरकार के सामने कबूल की।  

 

प्‍वाइंट नंबर- 9: इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने 31 जनवरी 2017 को ऑपरेशन क्‍लीन मनी को अभियान चलाया। इसका मकसद कैश डिपॉजिट का ई-वेरिफिकेशन कराना था। 


प्‍वाइंट नंबर- 10: नोटबंदी के दौरान किए संदिग्‍ध डिपॉजिट के चलते स्‍क्रूटनी के लिए 25,500 रिटर्न शॉर्टलिस्‍ट किए गए। रिटर्न फाइन नहीं करने वाले करीब 3 लाख लोगों को नोटिस जारी किया।    

   

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट