बिज़नेस न्यूज़ » Economy » TaxationFY-18 में 10.03 लाख करोड़ रहा डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन, 7 साल में सबसे तेज ग्रोथ

FY-18 में 10.03 लाख करोड़ रहा डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन, 7 साल में सबसे तेज ग्रोथ

फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में देश का डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन सालाना आधार पर 18 फीसदी बढ़कर 10.03 लाख करोड़ रुपए रहा है।

1 of

नई दिल्ली। फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में देश का डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन सालाना आधार पर 18 फीसदी बढ़कर 10.03 लाख करोड़ रुपए रहा है। डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में यह ग्रोथ पिछले 7 फाइनेंशियल ईयर के दौरान सबसे ज्यादा है। फाइनेंस मिनिस्ट्री के वरिष्‍ठ अधिकारी ने इस बारे में ट्विट कर जानकारी दी है। अधिकारी के अनुसार डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन बजट अनुमान से ज्यादा रहा है। 

 

 

पिछले महीने फाइनेंस सेक्रेट्री हसमुख अढिया ने यह जानकारी दी थी कि फाइनेंशियल ईयर में नेट डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन 9.95 लाख करोड़ रुपए रहा है और यह पिछले साल से 17.1 फीसदी ज्यादा है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा था कि यह डाटा अभी प्रोविजनल है और फाइनल डाटा में कुछ बदलाव आ सकता है। 

 

6.84 करोड़ टैक्स रिटर्न्स फाइल हुए
पिछले महीने ही फाइनेंस मिनिस्ट्री द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में 6.84 करोड़ टैक्स रिटर्न्स फाइल किए गए, जो एक साल पहले की समान अवधि से 26 फीसदी ज्यादा है। फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में 5.43 करोड़ टैक्स रिटर्न्स फाइल किए गए थे। वरिष्‍ट अधिकारी की ओर से बताया गया था कि कॉरपोरेट टैक्स 17.1 फीसदी रहा और पर्सनल टैक्स 18.9 फीसदी रहा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट