बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Taxationबिटकॉइन इन्‍वेस्‍टमेंट पर टैक्‍स वसूलेगी सरकार, जारी किए लाखों नोटिस

बिटकॉइन इन्‍वेस्‍टमेंट पर टैक्‍स वसूलेगी सरकार, जारी किए लाखों नोटिस

इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने बिटकॉइन में फंड रखने वाले कुछ लाख लोगों के खिलाफ नोटिस जारी किया है।

1 of

नई दिल्‍ली. इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने बिटकॉइन में निवेश करने वाले लाखों लोगों के खिलाफ नोटिस जारी किए हैं। साथ ही डिपार्टमेंट बिटकॉइन में किए गए इन्‍वेस्‍टमेंट पर बकाया टैक्‍स भी वसूलने पर काम कर रहा है। यह बात सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेज (सीबीडीटी) ने कही है। 

सीबीडीटी के चेयरमैन सुशील चंद्रा ने बताया कि टैक्‍स अधिकारियों को पता लगा है कि कई सारे इन्‍वेस्‍टर्स ने बिटकॉइन में किए गए इन्‍वेस्‍टमेंट से हुए फायदे पर एडवांस टैक्‍स नहीं भरा है। साथ ही कुछ अन्‍य इन्‍वेस्‍टर्स ने इसे अपने पिछले टैक्‍स रिटर्न्‍स में भी नहीं दर्शाया है। बता दें कि डिपार्टमेंट ने पिछले साल दिसंबर में पूरे भारत में बिटकॉइन एक्‍सचेंजों में सर्वे किया था।

 

टैक्‍स भरने के लिए तैयार हैं इन्‍वेस्‍टर्स 

चंद्रा ने आगे कहा कि हमने इन इन्‍वेस्‍टर्स को नोटिस जारी किए हैं और वे टैक्‍स भरने के लिए तैयार हैं। हम निश्चित तौर पर बिटकॉइन में इन्‍वेस्‍ट किए गए पैसों पर टैक्‍स वसूलेंगे। ऐसे नोटिसों की संख्‍या पूछे जाने पर चंद्रा ने कहा कि नोटिसों की संख्‍या कुछ लाख में है। बता दें कि वित्‍त मंत्री अरुण जेटली ने बृहस्‍पतिवार को अपने बजट भाषण में कहा था कि बिटकॉइन समेत हर तरह की क्रिप्‍टो करेंसी अवैध है और सरकार इसके इस्‍तेमाल को रोकने के लिए हर तरह के उपाय करेगी। 

 

इस बार लक्ष्‍य से ज्‍यादा होगा डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 

डायरेक्‍ट टैक्‍स पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने कहा कि डिपार्टमेंट को पूरा विश्‍वास है कि वह मौजूदा वित्‍त वर्ष में डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन के लक्ष्‍य को न केवल पूरा करेगा, बल्कि उसे पार कर जाएगा। चंद्रा ने यह भी कहा कि मुझे लगता है कि इकोनॉमी ग्रोथ की दिशा में आगे बढ़ रही है। एडवांस टैक्‍स पेमेंट की अंतिम तिमाही तीसरी तिमाही से बहुत बेहतर रहेगी। चूंकि इकोनॉमी अच्‍छी दिशा में बढ़ रही है, इसलिए अंतिम तिमाही में जीडीपी में भी उछाल आ रहा है। इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट ने इस वित्‍त वर्ष के अंत तक डायरेक्‍ट टैक्‍स से 9.8 लाख करोड़ रुपए का रेवेन्‍यू हासिल करने का लक्ष्‍य रखा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट