बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Taxation18 जनवरी को GST काउंसिल की अगली मीटिंग, रीयल एस्‍टेट पर होगी बात

18 जनवरी को GST काउंसिल की अगली मीटिंग, रीयल एस्‍टेट पर होगी बात

जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में रीयल एस्‍टेट को जीएसटी के दायरे में लाने पर सहमति बन सकती है।

1 of

नई दिल्‍ली. आम बजट से पहले गुड्स एंड सर्विसेज टैक्‍स (जीएसटी) काउंसिल की मीटिंग में रीयल एस्‍टेट को जीएसटी के दायरे में लाने पर सहमति बन सकती है। सूत्रों के अनुसार, जीएसटी काउंसिल की अगली मीटिंग 18 जनवरी को होगी। इस मीटिंग का अहम एजेंडा रीयल एस्‍टेट सेक्‍टर को जीएसटी में लाने पर चर्चा करना है। 

 

एक सीनियर सरकारी अफसर ने न्‍यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि जीएसटी काउंसिल की मीटिंग में रीयल एस्‍टेट को नए टैक्‍स सिस्‍टम के दायरे में लाना अहम एजेंडा होगा। यह मीटिंग 18 जनवरी को निर्धारित है। उन्‍होंने बताया कि इस पर कोई एक फैसला बन पाने की पूरी संभावना नहीं है लेकिन फिर भी एक गंभीर चर्चा होने की उम्‍मीद है। 


दिल्‍ली, जम्‍मू-कश्‍मीर चाहते हैं फैसला 

दिल्‍ली और जम्‍मू-कश्‍मीर जैसे राज्‍य रीयल एस्‍टेट को जीएसटी के दायरे में लाने को लेकर बहुत ज्‍यादा इच्‍छुक हैं। नवंबर की शुरुआत में वित्‍त मंत्रालय के अधिकारियों ने रीयल एस्‍टेट डेवलपर्स के साथ मीटिंग की थी। इसमें प्राइवेट डेवलपर्स की प्रॉपर्टीज को जीएसटी के दायरे में लाने पर चर्चा हुई थी। इससे पहले, जीएसटी काउंसिल की 23वीं मीटिंग गुवाहाटी में हुई थी। इसमें यह फैसला किया गया कि रीयल एस्‍टेट को भी टैक्‍सेशन सिस्‍टम के दायरे में लाना चाहिए। 

 

 एजेंडे में एक दर्जन मसले 

सीनियर सरकारी अफसर के अनुसार, 18 जनवरी की प्रस्‍तावित मीटिंग के एजेंडों में एक दर्जन से ज्‍यादा मसले शामिल हैं। उन्‍होंने बताया कि जीएसटी काउंसिल पांच से छह आइटम्‍स पर जीएसटी दरें कम करने पर फैसला कर सकती है। ये आइटम एग्रीकल्‍चर में इस्‍तेमाल होने वाले उपकरणों से शामिल है। जीएसटी कानून में संशोधन भी मीटिंग के एजेंडे में शामिल है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट