बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Taxationइनकम टैक्‍सपेयर्स ध्‍यान दें, 31 मार्च है आखिरी दिन, जाना पड़ सकता है जेल

इनकम टैक्‍सपेयर्स ध्‍यान दें, 31 मार्च है आखिरी दिन, जाना पड़ सकता है जेल

अगर आप टैक्‍स पेयर हैं तो आपके लिए 31मार्च 2018 कई वजहों से अहम होने जा रहा है....

1 of

नई दिल्‍ली। फाइनेंशिल सिस्‍टम के लिहाज से 31 मार्च बेहद अहम तारीख होती है। भारत में यह तारीख फाइनेंशियल ईयर की आखिरी तारीख होती है। इस दिन से पहले बहुत से काम निपटाने होते हैं। अगर आप टैक्‍स पेयर हैं तो आपके लिए 31मार्च 2018 कई वजहों से अहम होने जा रहा है। यह दिन टैक्‍स रिटर्न भरने का  आखिरी दिन है। 

 

आपके पास है आखिरी मौका 

सरकार ने इनकम टैक्‍स रिटर्न देर से भरने के नियम बदल दिए हैं। अब आपको टैक्‍स रिटर्न भरने के लिए 2 की जगह एक साल का ही मौका मिलेगा। यह नियम इस साल नोटि‍फाई हुआ है। इसके चलते 2015-16 और 2016-17 के लिए रिटर्न दाखिल करने का आखिरी मौका 31 मार्च 2018 ही है। इसके बाद आपको मौका नहीं मिलेगा। अगर आप यह सोचकर बैठे हैं कि 2016-17 के लिए अगले साल 31 मार्च तक रिटर्न भर लेंगे तो आप भूल कर रहे हैं। 


 

जाना पड़ सकता है जेल 
इनकम टैक्‍स एक्‍ट के मौजूदा नियम के तहत  इनकम टैक्‍स न चुकाने पर टैक्‍सपेयर को टैक्‍स की राशि पर इंटरेस्‍ट और पेनल्‍टी देनी होगी। इसके अलावा टैक्‍सपेयर के खिलाफ मुकदमा भी चलाया जा सकता है। इसके तहत टैक्‍सपेयर को 3 माह से लेकर 2 साल तक सश्रम कारावास की सजा हो सकती है। 

 

इन लोगों को हो सकती है 7 साल तक की सजा 
इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के अनुसार अगर किसी पर 25 लाख रुपए से अधिक का टैक्‍स बनता है और वह यह टैक्‍स नहीं चुकाता है तो उसे 6 माह से लेकर 7 साल तक जेल की सजा हो सकती है। 

 

इनकम टैक्‍स रिटर्न नहीं भरने के नुकसान 

  1. आपको अगर कुछ छूट मिलनी थी तो नहीं मिल पाएगी और आप घाटे (आवास संपत्ति पर हुए घाटे के अलावा) को आगे ले जाने यानी कैरी फॉरवर्ड करने का मौका भी गंवा देंगे। 
  2. टैक्‍स देनदारी निकलने पर आपको आयकर अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत ब्याज भी देना पड़ सकता है। जितना आयकर बकाया है, उस पर भी 1 फीसदी मासिक की साधारण ब्याज दर से रकम वसूली जाती है। 
  3.  अगर अधिक टीडीएस काट लिया गया है तो उसकी वापसी नहीं हो पाएगी। ऐसे में आपको पैसों का सीधा नुकसान होगा। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट