Home » Economy » Taxationसरकार का डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन अप्रैल से जनवरी 2018 तक 6.95 लाख करोड़ रुपए

जनवरी तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 19% बढ़कर 6.95 लाख करोड़ हुआ, 69.2% टारगेट हासिल

सरकार का डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन अप्रैल से जनवरी 2018 तक 6.95 लाख करोड़ रुपए हो गया।

1 of

नई दिल्‍ली. सरकार का डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन अप्रैल से जनवरी 2018 तक 6.95 लाख करोड़ रुपए हो गया। यह पिछले साल के इसी पीरियड के मुकाबले 19.3% ज्‍यादा है। 2017-18 के लिए 10.05 लाख करोड़ के रिवाइज्ड एस्‍टीमेट के मुकाबले अबतक सरकार ने डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन का 69.2 फीसदी हासिल कर लिया है। 

 

अगले हफ्ते भी शेयर मार्केट में कमजोरी की आशंका, ये 4 फैक्टर्स रहेंगे हावी

पर्सनल इनकम टैक्‍स 18.6% बढ़ा 

- वित्‍त मंत्रालय के मुताबिक, जनवरी 2018 तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्शन का प्रोविजनल आंकड़ा पिछले साल के मुकाबले बढ़ा है। कॉरपोरेट इनकम टैक्‍स (सीआईटी)  19.2% और पर्सनल इनकम टैक्‍स (पीआईटी) 18.6% बढ़ा है। 

 

रिफंड अमाउंट 1.26 लाख करोड़ रुपए

- "वित्त वर्ष 2017-18 के पहले 10 महीने में रिफंड अमाउंट 1.26 लाख करोड़ रुपए रहा। इस तरह, ग्रॉस डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन (रिफंड से पूर्व) अप्रैल-जनवरी 2018 तक 13.3% बढ़कर 8.21 लाख करोड़ रुपए रहा। 

 

हम पॉलिसी पैरालिसिस से रिफॉर्म की ओर बढ़े- जेटली

- अरुण जेटली ने कांग्रेस के उन आरोपों को नाकारा, जिसमें अपोजिशन पार्टी ने NDA के कार्यकाल में इकोनॉमिक गिरावट की बात कही थी। 

- जेटली शुक्रवार को राज्यसभा में बजट पर डिबेट में कहा, "हमारी सरकार ने UPA सरकार के दौरान हुए पॉलिसी पैरालिसिस से स्ट्रक्चरल रिफॉर्म तक का सफर पूरा किया है।"

 

मलविन्‍दर ब्रदर्स पर फोर्टिस से 500 करोड़ निकालने का आरोप, ऑडिटर ने नहीं साइन की बैलेंस शीट

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट