Home » Economy » Taxationडायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 18.7% बढ़ा: Direct Tax collections up to 15th January are at Rs. 6.89 lakh crore

डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 18.7% बढ़कर 6.89 लाख करोड़ हुआ, टारगेट का 70% हासिल किया

चालू वित्त वर्ष 2017-18 में 15 जनवरी तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 6.89 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया।

1 of

नई दिल्‍ली. फाइनेंशियल ईयर 2017-18 में 15 जनवरी तक डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 6.89 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया। यह 2016-17 में इसी पीरियड की तुलना में 18.7% ज्‍यादा है। इस तरह, सरकार ने 2017-18 के लिए डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन का टारगेट का 70.03% हासिल कर लिया है। सरकार ने 2017-18 में डायरेक्‍ट टैक्‍स से 9.8 लाख करोड़ रुपए का रेवेन्‍यू हासिल करने का टारगेट रखा है। 

 

1.22 लाख करोड़ रुपए का रिफंड दिया

- सरकार ने आंकड़े जारी किए हैं। उनके मुताबिक, अप्रैल 2017 से 15 जनवरी तक ग्रॉस डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन 8.11 लाख करोड़ रुपए रहा जो पिछले फाइनेंशियल ईयर के इसी पीरियड की तुलना में 13.5% ज्यादा है। इस दौरान सरकार ने 1.22 लाख करोड़ रुपए का रिफंड दिया है। 

 

डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन में हुआ सुधार 

- बयान में कहा गया- डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन में मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में सुधार जारी है। पहली तिमाही में ग्रॉस डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन में 10%, दूसरी तिमाही में 10.3%, तीसरी तिमाही में 12.6% और मौजूदा तिमाही में (15 जनवरी तक) 13.5% की बढ़ोतरी दर्ज की गई। इन तिमाहियों में नेट डायरेक्‍ट टैक्‍स कलेक्‍शन में 14.8%, 15.8%, 18.2% और 18.7% की बढ़ोतरी हुई।

 

कॉरपोरेट इनकम टैक्‍स 4.8 फीसदी बढ़ा 

- "कॉरपोरेट इनकम टैक्‍स (सीआईटी) के जरिए रेवेन्‍यू में अच्‍छी ग्रोथ हुई है। 2017-18 में 1 अप्रैल 2017 से 15 जनवरी तक ग्रॉस कॉरपोरेट इनकम टैक्‍स पहली तिमाही में 4.8%, दूसरी तिमाही में 5.1%, तीसरी तिमाही में 10.1% और चौथी तिमाही में (15 जनवरी तक) 11.4% की बढ़ोतरी हुई है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट