विज्ञापन
Home » Economy » TaxationConfederation of All India Traders slams Rahul gandhi statement on abolishing GST

GST हटाने की बात कहकर फंसे राहुल गांधी, व्यापारियों ने कही ये बड़ी बात

चुनावी रैलियों में बार-बार जीएसटी हटाने की बात कह रहे हैं कांग्रेस अध्यक्ष

Confederation of All India Traders slams Rahul gandhi statement on abolishing GST

Confederation of All India Traders slams Rahul gandhi statement on abolishing GST: सत्ता में आने पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) हटाने का बयान देकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी फंस गए हैं। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने राहुल गांधी के इस बयान की कड़ी आलोचना की है। कैट का कहना है कि राहुल अपने राजनीतिक फायदे के लिए GST हटाने की बात कर रहे हैं।

नई दिल्ली। सत्ता में आने पर वस्तु एवं सेवा कर (GST) हटाने का बयान देकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी फंस गए हैं। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने राहुल गांधी के इस बयान की कड़ी आलोचना की है। कैट का कहना है कि राहुल अपने राजनीतिक फायदे के लिए GST हटाने की बात कर रहे हैं।

राहुल के पास नहीं वैकल्पिक व्यवस्था
कैट के महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने रविवार को एक बयान जारी कर रहा कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सत्ता में आने पर GST खत्म करने की बात कह रहे हैं। खंडेलवाल ने कहा कि राहुल के पास GST का कोई विकल्प नहीं है। राहुल यह बात केवल अपने राजनीतिक फायदे के लिए कर रहे हैं और व्यापारियों के कंधे पर रखकर बंदूक चला रहे हैं। चेतावनी देते हुए खंडेलवाल ने कहा कि राहुल अपनी राजनीति के लिए व्यापारियों का इस्तेमाल ना करें, नहीं तो आगामी चुनाव में व्यापारी कांग्रेस को करारा जवाब देंगे।

कांग्रेस की प्राथमिकता में नहीं रहे व्यापारी
दिल्ली में व्यापारियों के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए खंडेलवाल ने कहा कि देश में आजादी से अब तक सबसे ज्यादा कांग्रेस ने शासन किया है। लेकिन व्यापारी कभी भी कांग्रेस की प्राथमिकता में नहीं रहे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में व्यापारियों के साथ कभी भी न्याय नहीं हुआ। खंडेलवाल ने सवाल उठाते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकारों के दौरान राहुल गांधी कितनी बार व्यापारियों से मिले। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में देश के व्यापारी बद से बद से बदतर हो गए थे जो आज तक नहीं संभल पाए हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss