बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Taxationगि‍रफ्तार हुआ 'बंटी' बि‍टक्‍वाइन वाला, इस तरह से ठगे 2000 करोड़

गि‍रफ्तार हुआ 'बंटी' बि‍टक्‍वाइन वाला, इस तरह से ठगे 2000 करोड़

बिटक्‍वाइन से लोगों को रईस बनाने के सपने दि‍खाने वाला अमि‍त भारद्वाज आखि‍रकार पुलि‍स के हत्‍थे चढ़ गया।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। बिटक्‍वाइन से लोगों को रईस बनाने के सपने दि‍खाने वाला अमि‍त भारद्वाज आखि‍रकार पुलि‍स के हत्‍थे चढ़ गया। सुपर चोर बंटी की तरह इसने भी बहुत लंबा हाथ मारा, लेकि‍न कानून के हाथों से नहीं बच सका। अमि‍त पर बिटक्‍वाइन आधारि‍त पोंजी स्‍कीम चलाकर कम से कम 8000 लोगों से तकरीबन 2000 करोड़ रुपए ठगने का आरोप है। उसे महाराष्‍ट्र पुलि‍स ने गि‍रफ्तार कि‍या है। 


भारद्वाज और उसका भाई विवेक कुमार ने गेन बि‍टक्‍वाइन के नाम से अपना धंधा शुरू कि‍या। दोनों को बैंकॉक से आते ही नई दिल्‍ली में पुलि‍स ने धर पकड़ा। पुणे पुलि‍स की कमि‍शनर रश्‍मि शुक्‍ला ने बताया कि हमारे पास सूचना थी कि दोनों दि‍ल्‍ली आएंगे। हमारी टीम बीते 10 दि‍नों से यहीं डेरा जमाए हुई थी। इनका अपराध, जि‍तना नजर आता है उससे कहीं ज्‍यादा बड़ा है।  आगे पढ़ें 

शुरू की कंपनी 
अप्रैल 2014 में इन दोनों ने जीबी21, गेन बि‍टक्‍वाइन के नाम से सिंगापुर में कंपनी शुरू की। जनवरी 2015 में इन्‍होंने गेन बि‍टक्‍वाइन के नाम से अपनी वेबसाइट शुरू की। इनके नि‍शाने पर इंटरनेट सर्फ करने वाले, बि‍जनेसमैन, डॉक्‍टर और घरेलू महि‍लाएं थीं। 
अपनी वेबसाइट के माध्‍यम से दोनों लोगों को यह बताकर फंसाते थे कि उन्‍हें महज 18 महीने में 180 फीसदी रिटर्न मि‍लेगा और उसके लि‍ए उन्‍हें केवल 0.1 बि‍टक्‍वॉइन का नि‍वेश करना होगा। शुक्‍ला ने बताया कि इन्‍होंने ऑनलाइन, कैश और चेक के माध्‍यम से लोगों से रुपए लि‍ए, इसके लि‍ए उन्‍होंने एजेंट भी रखे हुए थे जि‍न्‍हें बि‍टक्‍वॉइन में कमीशन दि‍या जाता था।  आगे पढ़ें खुद की करेंसी लॉन्‍च की

 

अपनी वर्चुअल करंसी बनाई 
27 अप्रैल 2016 को दोनों ने एक नई कंपनी खोली। इसका नाम एम-कैप फेस-1 था। इन्‍होंने खुद की क्रिप्‍टोरकरेंसी एमकैप बनाई। इसमें उन्‍होंने महज 20 माह में 200 फीसदी रि‍टर्न देने की गारंटी दी। इसके लि‍ए दोनों ने कम से कम 100 डॉलर के नि‍वेश की शर्त रखी। नवंबर 2016 में नोटबंदी के बाद उन्‍होंने लोगों से कैश लेना भी शुरू कर दि‍या। दोनों ने नि‍वेशकों को न तो पैसे लौटाए और ना ही बिटक्‍वॉइन लौटाए। इसकी बजाए उन्‍होंने नि‍वेशकों को एम कैप देना शुरू कर दि‍या, जि‍सकी कोई मार्केट वैल्‍यू ही नहीं थी। पुलि‍स ने उन सभी लोगों से शिकायत दर्ज कराने की अपील की है, जि‍न्‍हें इन दोनों भाइयों ने ठगा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट