Home » Economy » Taxation50 Indian items face heat as US revokes duty-free privileges on import of 90 products

पलटवार करके भी चूक गए मोदी, लेकिन ट्रम्प ने दे दिया दोहरा झटका

अमेरिका ने 50 भारतीय उत्पादों पर लगाई इंपोर्ट ड्यूटी

1 of

वॉशिंग्टन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा शुरू की गई ट्रेड वार से झटका खाने के बाद भारत ने पलटवार तो किया, लेकिन उसके बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चूक गए। मोदी सरकार ने अगस्त में अमेरिका से आने वाले 29 आइटम्स पर टैरिफ तो लगाया, लेकिन इसे अभी तक लागू नहीं कर सकी है। इसके बावजूद अमेरिका नहीं माना और उसने अब 50 भारतीय आइटम्स पर इंपोर्ट ड्यूटी लगाकर भारत को दूसरा झटका दे दिया है। इन आइटम्स में हैडंलूम और एग्री आइटम्स भी शामिल हैं।


भारत ने लगाया जवाबी टैरिफ, लेकिन लागू नहीं किया

गौरतलब है कि अमेरिका ने मार्च में अमेरिका में इंपोर्ट होने वाले स्टील पर 25 फीसदी और एल्युमीनियम पर 10 फीसदी टैरिफ लगाने का ऐलान किया था। इसका असर भारत, चीन सहित दुनिया के कई देशों पर पड़ा। अमेरिका ने अपने फैसले को डोमेस्टिक इकोनॉमिक सिक्‍युरिटी के लिए जरूरी बताया था। वहीं इसके जवाब में भारत ने अगस्त में अमेरिका से इंपोर्ट होने वाले अखरोट, बादाम सहित 29 आइटम्स पर टैरिफ तो लगाने का ऐलान किया, लेकिन उसे  अभी तक लागू नहीं किया। मोदी सरकार अपने इस फैसले को लागू करने की डेडलाइन दो बार बढ़ा चुकी है।

 

अमेरिका ने 50 भारतीय आइटम्स पर लगाई ड्यूटी

अमेरिका ने गुरुवार को एक नोटिफिकेशन जारी किया, जिसमें उन 90 वस्तुओं का जिक्र किया गया जिन पर जीएसपी (Generalized System of Preferences) के तहत कोई इंपोर्ट ड्यूटी नहीं लगाई जाती थी। अब अमेरिकी सरकार ने इनमें से 90 वस्तुओं में से 50 पर इंपोर्ट ड्यूटी लगा दी है।

आगे पढ़ें,

1 नवंबर से लागू हुआ फैसला

अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया कि जीएसपी के तहत इन आइटम्स पर ड्यूटी का फैसला 1 नवंबर से लागू हो जाएगा। हालांकि इन पर मोस्ट फेवर्ड नेशन के लिए लागू टैक्स लगाया जा सकता है। इसके साथ ही ट्रंप सरकार का यह फैसला देश आधारित नहीं, बल्कि उत्पाद आधारित है। बता दें कि भारत जीएसपी के तहत सबसे ज्यादा लाभ उठाने वाला देश है और अमेरिकी सरकार के इस फैसले से भारत को तगड़ा झटका लगेगा। 

आगे पढ़ें,

क्या है जीएसपी प्रोग्राम 

जीएसपी अमेरिका का सबसे बड़ा और सबसे पुराना ट्रेड प्रिफरेंस प्रोग्राम है, जिसके माध्यम से वह अपने यहां ड्यूटी फ्री एंट्री देकर आर्थिक रूप से कमजोर देशों में आर्थिक विकास को बढ़ावा देता है। 2017 में जीएसपी के तहत भारत ने अमेरिका में 5.6 अरब डॉलर से ज्यादा का एक्सपोर्ट किया था। भारत के अलावा अर्जेंटीना, ब्राजील, थाईलैंड, सूरीनाम, पाकिस्तान, तुर्की, फिलीपींस, इक्वाडोर और इंडोनेशिया जैसे अन्य देशों के उत्पाद भी जीएसपी सूची से हटा दिए गए हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट