• Home
  • Tourism sector stakeholders welcome decision of lifting security advisory for tourists

राहत /कश्मीर में सैलानियों के लिए माहौल माकूल, कारोबार में आएगी तेजी

  • जम्मू और कश्मीर के घाटी में पर्यटकों को लेकर जारी ट्रैवल एडवाइजरी को रद्द करने के फैसले को टूरिज्म सेक्टर ने स्वागत किया है
  • नई व्यवस्था 10 अक्तूबर से प्रभावी होगी
  • राज्य सरकार के इस फैसले से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा

Moneybhaskar.com

Oct 09,2019 05:56:51 PM IST

नई दिल्ली : जम्मू और कश्मीर के घाटी में पर्यटकों को लेकर जारी ट्रैवल एडवाइजरी को रद्द करने के फैसले को टूरिज्म सेक्टर ने स्वागत किया है। टूरिज्म सेक्टर से जुड़े कारोबारियों ने आगामी पर्यटन क्षेत्र में सीजन के दौरान तेजी की उम्मीद जताई है। बता दें कि राज्य प्रशासन ने 2 अगस्त को आतंकी हमले के खतरे का हवाला देते हुए अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को घाटी से जाने को कहा था, लेकिन अब एडवाइजरी को रद्द करने का फैसला लिया गया। नई व्यवस्था 10 अक्तूबर से प्रभावी होगी।

फैसले से पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा

राज्य सरकार के इस फैसले से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। घरेलू पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी। घाटी के हालात के मद्देनजर घरेलू पर्यटकों ने कश्मीर का रुख करना लगभग बंद कर दिया है। पिछले दिनों कुछ विदेशी पर्यटक डल झील पहुंचे थे। अनुच्छेद 370 हटने के बाद विदेशी तथा घरेलू पर्यटकों की ओर से लद्दाख को ज्यादा पसंद किया जा रहा है।

कारोबारियों ने फैसले का किया स्वागत

सरकार द्वारा धारा 370 हटाने के बाद से ही घाटी में अशांति की वजह से टूरिज्म सेक्टर काफी प्रभावित हुआ है। हालांकि अब तेजी की उम्मीद जताई जा रही है। एजेंसी से बातचीत में एक होटल के मैनेजर मोहम्मद अरफात ने कहा 'सरकार द्वारा कुछ प्रतिबंध लगाने के बाद से यहां होटल का बिजनेस काफी प्रभावित हुआ है। लगभग 90 फीसदी होटल यहां आने वाले टूरिस्ट पर निर्भर करता है लेकिन अब बिजनेस में तेजी आ सकती है। ' कश्मीर के निदेशक पर्यटन, निसार अहमद वानी ने कहा 'घाटी में जनवरी और फरवरी के महीने में काफी संख्या में टूरिस्ट पहुंचते हैं, अब इस साल अधिक टूरिस्ट पहुंच सकते हैं। 'वहीं, एक पर्यटक पूजा ने कहा, "यह एक बड़ा फैसला है जो सरकार ने लिया है। हमारे जैसे पर्यटक एक बार फिर घाटी के विभिन्न हिस्सों का पता लगा सकते हैं और हम इसके लिए तत्पर हैं।"

घाटी से ज्यादातर प्रतिबंध हटे

जम्मू कश्मीर में प्रतिबंधों के लागू होने के बाद सुरक्षा परिदृश्य की समीक्षा बैठकें होती रही हैं। पिछले छह हफ्तों से जम्मू-कश्मीर अधिकांश हिस्सों में सभी सुरक्षा प्रतिबंध हटा दिए गए हैं. पहले लिए जा चुके फैसलों में हायर सेकंडरी स्कूलों, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय, सार्वजनिक परिवहन, टीआरसी श्रीनगर में अतिरिक्त यात्रा काउंटर, जनता और सरकारी विभागों की सुविधा के लिए प्रत्येक जिले में 25 इंटरनेट कियोस्क खोलने और सरकारी कार्यालयों में उपस्थिति की निगरानी करने जैसे अहम फैसले शामिल हैं।

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.