• Home
  • start a new business in just five days, govt planning to make big changes in policies

योजना /अब सिर्फ पांच दिनों में शुरू कर सकेंगे नया बिजनेस, सरकार कर रही नीतियों में बड़ा बदलाव

  • बिजनेस का रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कई फाॅर्म्स की बजाय अब सिर्फ दो फाॅर्म भरने होंगे

Moneybhaskar.com

Jan 10,2020 10:34:51 AM IST

नई दिल्ली. अब आप जल्द ही सिर्फ पांच दिनों में कोई नया बिजनेस शुरू कर सकेंगे। इसमें आपको बहुत अधिक प्रक्रियाओं से भी नहीं गुजरना होगा। सरकार नया बिजनेस शुरू करने के नियमों में बड़ा बदलाव करने जा रही है। नए नियमों के तहत बिजनेस शुरू करने के लिए 10 की जगह सिर्फ पांच प्रक्रियाओं को पूरा करना होगा और इसमें 18 नहीं बल्कि पांच ही दिन लगेंगे।

जल्द जारी होंगे दो नए फॉर्म

इकोनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक, कंपनी के नाम का पंजीकरण, इंकॉर्पोरेशन और जीएसटी समेत कई प्रकार के टैक्स के लिए रजिस्ट्रेशन कराने जैसी दस सेवाओं के कई फाॅर्म्स की बजाय अब सिर्फ दो फाॅर्म भरने होंगे। कॉरपोरेट मामलों का मंत्रालय एक महीने में 'स्पाइस प्लस’ और ‘एजाइल प्रो’ नाम के इन दोनों फॉर्म्स को पेश करेगा, जो फिलहाल चलन में मौजूद छह फॉर्म्स की जगह लेंगे। यह दो फॉर्म जीएसटीआईएन, पैन, टैन, ईएसआईसी, ईपीएफओ, डीआईएन, बैंक अकाउंट और प्रोफेशनल टैक्स की जानकारी एकत्र करेंगे।

नया व्यापार खड़ा करने में मदद कर रही सरकार

मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, नए फॉर्म वेब आधारित होंगे और इस्तेमाल करने में बेहद आसान होंगे। विश्व बैंक की ताजा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रिपोर्ट ने आकलन किया है कि भारत में बिजनेस शुरू करने के लिए कम से कम 18 दिन लगते हैं और 10 प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ता है। बिजनेस शुरू करने की सूची में भारत 190 देशों में से 136वें स्थान पर है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में अपनी रैंकिंग सुधारना सरकार के लिए बड़ा एजेंडा रहा है। सरकार ने नए रजिस्टर्ड बिजनेस को बैंक अकाउंट के लिए अप्लाई करने में मदद करने के लिए आठ बैंकों से हाथ मिलाया है।

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.